मुख्यपृष्ठसमाचारनन्हे अन्मय को बचाने में खर्च होंगे १६ करोड़! सुलतानपुर, जौनपुर,...

नन्हे अन्मय को बचाने में खर्च होंगे १६ करोड़! सुलतानपुर, जौनपुर, प्रतापगढ़ सहित पूर्वी यूपी के  तमाम शहरों में छिड़ी धनराशि संकलन की मुहिम

  • मनोज मुंतशिर , सोनू सूद से लेकर राजा भैया तक जुटे रकम एकत्र करने में

विक्रम सिंह / सुलतानपुर

यूपी के सुलतानपुर शहर में ७ माह का अन्मय इतनी सी उम्र में जिंदगी के लिए बड़ी जंग लड़ रहा है। वो जन्म से ही दुर्लभ किस्म की बीमारी स्पाइनल मस्कुलर एट्रोफी (एसएमए) से जूझ रहा है। चिकित्सकों का कहना है कि उसकी जान तभी बचेगी जब उसे अमेरिका से लाकर १६ करोड़ रुपए का इंजेक्शन लगाया जाएगा। वो भी कुछ माह के भीतर, अन्यथा ज्यादा से ज्यादा ढाई वर्ष की अवस्था तक ही अन्मय इस दुनिया में रह सकेगा। जबसे यह बात सोशल मीडिया के जरिए प्रकाश में आई है, मुहिम सी चल पड़ी है उसे बचाने के लिए धन इकट्ठा करने की। बाकायदा सुलतानपुर, जौनपुर, प्रतापगढ़ आदि जिलों में हर आम-ओ-खास के साथ-साथ स्कूल -कॉलेजों तक `सेव अन्मय’ अभियान शुरू हो गया है। गीतकार मनोज मुंतशिर, रीतेश रजवाड़ा,अभिनेता सोनू सूद, प्रसिद्ध रामकथा वाचक आचार्य शांतनु महाराज आदि ने भी मार्मिक अपील की है। नतीजा यह है कि ३३ दिनों में करीब १ करोड़ की रकम लोगों ने इस मुहिम में एकत्र कर ली है लेकिन कई विधायकों के पत्र लिखने के बावजूद अभी तक केंद्र व प्रदेश सरकारों ने अभी तक इस विषय को संज्ञान में नहीं लिया है न ही सरकारी मदद का कोई आश्वासन ही दिया है। उधर गुरुवार को पूर्व मंत्री रघुराज प्रताप सिंह, एमएलसी शैलेंद्र प्रताप सिंह व वानर सेना के अजय सिंह आदि भी इस मुहिम में जुट गए हैं। सभी ने पीड़ित परिवार को ढांढस बंधाया है कि हर हाल में अमेरिका से इंजेक्शन लाया जाएगा।
इन विधायकों ने लिखीं चिट्ठियां
अन्मय को बचाने की मुहिम में नेताओं ने भी सरकार से आर्थिक मदद मांगी है। सुलतानपुर के कादीपुर से भाजपा विधायक राजेश गौतम, विनोद सिंह, राजप्रसाद उपाध्याय, बदलापुर जौनपुर के एमएलए रमेश मिश्र व शाहगंज के सुरेश सिंह ने सीएम को पत्र लिखकर मुख्यंमत्री विवेकाधिकार कोष से अन्मय को बचाने के लिए इंजेक्शन की खातिर आर्थिक सहायता की मांग की है।
सुलतानपुर के डीएम ने सीएम को दी जानकारी 
जिलाधिकारी रवीश गुप्ता भी अन्मय की बीमारी को लेकर संजीदा हैं। ११ अगस्त को ही मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को पत्र भेजकर बता चुके हैं कि कोतवाली नगर के सौरमऊ स्थित ऑफिसर्स कालोनी निवासी सुमित कुमार सिंह का पुत्र अन्मय सिंह (७ माह) को जटिल बीमारी है। इसकी जांच एसडीएम द्वारा कराई गई तो पुष्टि भी हुई। जिसके लिए १६ करोड़ रुपए का खर्च आनेवाला है। बच्चे के पिता सुमित कुमार सिंह बैंक कर्मचारी हैं व मां अंकिता सिंह गृहिणी हैं। करीब ३ माह पहले बच्चे के शारीरिक विकास में कुछ कमी हुई, परिवार ने उसे दिल्ली के सर गंगाराम अस्पताल व एम्स में दिखाया। वहां पता चला कि अन्मय को स्पाइनल मस्कुलर एट्रोफी की गंभीर बीमारी है। जो करोड़ों बच्चों में एकाध को ही होती है। इस बीमारी के लक्षण मात्र छह माह में ही आने लगते हैं और दो साल में मौत हो जाती है। इसके इलाज में प्रयुक्त होनेवाला इंजेक्शन सिर्फ अमेरिका में है। जिसकी कीमत १६ करोड़ है। इसे दो साल के भीतर ही लग जाना चाहिए अन्यथा बच्चे की अधिकतम ढाई साल तक ही जीने की संभावना है। सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर ये जानकारी आने के बाद से ही आम जनमानस में दवा के लिए धन एकत्र करने की मुहिम छिड़ गई है।

अन्य समाचार