मुख्यपृष्ठनए समाचारराष्ट्रपति चुनाव पर १६ दलों की बैठक ... विपक्ष एकजुट!

राष्ट्रपति चुनाव पर १६ दलों की बैठक … विपक्ष एकजुट!

• ममता ने फारूक और गोपाल गांधी का लिया नाम
• राजनाथ ने पवार और मायावती को फोन घुमाया

सामना संवाददाता / नई दिल्ली
राष्ट्रपति चुनाव को लेकर पक्ष और विपक्ष दोनों कुनबा रेस हो गया है। एक तरफ ममता बनर्जी ने जहां १६ विपक्षी दलों के साथ दिल्ली में बैठक की, वहीं इस बैठक के चंद घंटे बाद ही सत्ता पक्ष की ओर से रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने पहले बिहार के सीएम नीतीश कुमार और ओडिशा के सीएम नवीन पटनायक से बात की। इसके बाद उन्होंने शरद पवार और मायावती को भी फोन घुमाया। इससे पहले दिल्ली में ममता बनर्जी के नेतृत्व में विपक्षी दलों की बैठक करीब दो घंटे तक चली। बैठक में ममता बनर्जी ने राष्ट्रपति उम्मीदवार के तौर पर गांधी जी के पोते गोपाल गांधी और जम्मू-कश्मीर के पूर्व मुख्यमंत्री फारूक अब्दुल्ला का नाम प्रपोज किया। बैठक में शिवसेना और कांग्रेस समेत १६ दल शामिल थे। आम राय यह बनी कि पूरे विपक्ष का एक ही वैंâडिडेट होगा। इस बैठक में आम आदमी पार्टी ने हिस्सा नहीं लिया। उधर न्योता न मिलने पर असदुद्दीन ओवैसी भी नाराज हो गए।
ममता ने २२ नेताओं को लिखी थी चिट्ठी
ममता ने विपक्ष के ८ सीएम सहित २२ नेताओं को चिट्ठी लिखकर बैठक में शामिल होने का अनुरोध किया था। खास बात यह है कि इस बैठक में कांग्रेस भी शामिल हुई। कांग्रेस की ओर से इस बैठक में पार्टी के वरिष्ठ नेता मल्लिकार्जुन खरगे शामिल हुए। देश में १८ जुलाई को राष्ट्रपति का चुनाव होना है, जिसको लेकर विपक्ष भाजपा के खिलाफ लामबंद हो रहा है।
शरद पवार और खरगे का भी नाम उछला
इससे पहले खबरें आ रही थीं कि विपक्षी दल राष्ट्रपति पद के उम्मीदवार के लिए एनसीपी नेता शरद पवार के नाम पर सहमत नजर आ रहे हैं। शरद पवार से पहले कांग्रेस नेता मल्लिकार्जुन खरगे को भी राष्ट्रपति पद का उम्मीदवार बनाने की खबरें आ रही थीं।
बंगाल सीएम ने इन नेताओं को भेजा न्योता
ममता बनर्जी ने दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल, केरल के सीएम पिनराई विजयन, ओडिशा के सीएम नवीन पटनायक, तेलंगाना के सीएम के चंद्रशेखर राव, तमिलनाडु के सीएम एमके स्टालिन, महाराष्ट्र के सीएम उद्धव ठाकरे, झारखंड के सीएम हेमंत सोरेन, पंजाब के सीएम भगवंत मान और कांग्रेस प्रमुख सोनिया गांधी समेत २२ नेताओं को पत्र लिखा है।

अन्य समाचार