मुख्यपृष्ठनए समाचारआरे में १८ अंडरपास! ७.२ किमी लंबे आरे रोड का होगा विस्तारीकरण...

आरे में १८ अंडरपास! ७.२ किमी लंबे आरे रोड का होगा विस्तारीकरण : पर्यावरण मंत्री आदित्य ठाकरे ने की सरप्राइज विजिट

सामना संवाददाता / मुंबई
महानगर मुंबई के बीच आरे क्षेत्र में विशाल जंगल है, यहां बड़ी संख्या में तेंदुआ, चीता, लोमड़ी, सांप, बिल्ली आदि जंगली जानवर रहते हैं। इन जानवरों की सुरक्षा के लिए मनपा अब आरे के बीच से गए रोड पर १८ अंडरपास बना रही है, ताकि इन जानवरों को सड़कों से गुजरनेवाले वाहनों एवं मनुष्य से सीधे टकराने की नौबत न आए। सड़क के नीचे से बने अंडरपास से जानवर नीचे-नीचे ही पार हो जाएंगे और मानव जाति पर जानवरों द्वारा होनेवाले हमले एवं जानवरों के दुर्घटना में मौत की संख्या में कमी आएगी। इस योजना का १५ प्रतिशत काम पूरा कर लिया गया है। राज्य के पर्यावरण मंत्री आदित्य ठाकरे ने सरप्राइज विजिट कर यहां चल रहे विकास कार्यों का जायजा लिया और शुरू कार्य को लेकर संतोष व्यक्त किया। इस मौके पर मनपा सड़क विभाग के मुख्य इंजीनियर उल्हास महाले ने यह भी दावा किया कि निर्माण कार्य के दौरान नगर निकाय एक भी पेड़ को नहीं काटेगा बल्कि आरे में वृक्षों की संख्या बढ़ाई जा रही है। मनपा के सड़क विभाग के मुख्य इंजीनियर उल्हास महाले ने कहा कि मनपा ने आरे कॉलोनी रोड पर कुल १८ अंडरपास बन रहे हैं। फिलहाल तीन अंडरपास का निर्माण शुरू है और जल्द ही खत्म होने के कगार पर है। बाद में १५ और अंडरपास बनाए जाएंगे। इसके लिए ३८ करोड़ रुपए खर्च होंगे। उन्होंने कहा कि वन विभाग ने मनपा के डिजाइन को सुधारित कर मंजूर किया है। एक सर्वेक्षण कर यहां बड़ी संख्या में रहनेवाले जानवरों को लेकर रिपोर्ट तैयार की गई थी। उसमें दर्ज आंकड़ों और सुझाव को ध्यान में लेकर अंडरपास के निर्माण के लिए स्थानों का सुझाव दिया है। बराबर वैâमरा और सैटेलाइट से सर्वेक्षण किया गया था। ये अंडरपास बनाते समय एक भी वृक्ष को काटने का सवाल ही नहीं उठता है। हम ग्रीन क्षेत्र को बढ़ाने का प्रयास कर रहे हैं।

अंडरपास योजना में एक भी वृक्ष को नुकसान नहीं होगा।
उल्लेखनीय है कि पिछले कुछ वर्षों से आरे कालोनी के आस-पास काफी विकास हुआ है। निवासी क्षेत्रा१ें का दायरा भी बढ़ा है, जिसके चलते लोगों की आवाजाही में वृद्धि हुई है। ऐसे जानवरों और मानव के बीच संघर्ष के किस्से भी सामने आए हैं। सड़क पार करते समय जीव-जंतुओं को वाहनों से टकराने से उनकी मौत के प्रमाण बढ़े हैं तो कई ठिकानों पर तेंदुए द्वारा हमला किए जाने की घटनाएं सामने आई हैं। ऐसे में आरे के जंगल में जानवरों की सुरक्षा को ध्यान में रखते हुए उनके लिए सड़क के नीचे से अंडरपास बनाया जा रहा है। बता दें कि आरे कॉलोनी में कुल ७. २ किमी लंबी सड़क बनाई जा रही है। इसके लिए मनपा ३८ करोड़ रुपए खर्च कर रही है।

अन्य समाचार