मुख्यपृष्ठअपराधआतंकी गतिविधियों के लिए हिंदुस्थान से भेजी गईं 300 लड़कियां!

आतंकी गतिविधियों के लिए हिंदुस्थान से भेजी गईं 300 लड़कियां!

सिस्टम को किया गया अलर्ट

सामना संवाददाता / नई दिल्ली

देश के विभिन्न हिस्सों से लगभग 300 लड़कियों को मध्य पूर्वी देशों के रास्ते पाकिस्तान भेजे जाने का केंद्रीय तंत्रों को संदेह है। इन लड़कियों को आतंकी गतिविधियों में प्रशिक्षित किया जाएगा। ऐसी जानकारी मिली है कि इस संबंध में सिस्टम को अलर्ट कर दिया गया है। पिछले कई सालों से पाकिस्तान की आईएसआई की ओर से जम्मू-कश्मीर में अशांति कायम रखने की कोशिश की जा रही है।

कौन हैं ये लड़कियां?

बताया जा रहा है कि राज्य की व्यवस्था गुमशुदा लोगों के रजिस्टर की तलाशी कर रही है कि इनमें से कितनी लड़कियां लौटीं और कितनी नहीं, लेकिन इसका कोई रिकॉर्ड नहीं है, इसकी जानकारी जुटाई जा रही है। यह भी पता चला है कि जिन लड़कियों ने धर्म परिवर्तन कर शादी कर ली है। खासकर वो जो शादी कर विदेश चली गई हैं, उनका पता लगाया जा रहा है।

राज्यों को अलर्ट

केंद्रीय तंत्रों के अनुसार निर्यात की गई लड़कियों की संख्या 300 तक होने का अनुमान है, जिसमें धर्मांतरित लड़कियों के शामिल होने की भी संभावना है। पिछले एक महीने से अधिक समय से सभी राज्यों को इस बारे में अलर्ट कर दिया गया है। यह पता चला है कि 100 लड़कियों को पहले ही आतंकी गतिविधियों में प्रशिक्षित किया जा चुका है। साल 2009 में खुलासा हुआ था कि पाकिस्तान के अलग-अलग हिस्सों में 700 महिलाओं को आतंकी कैंपों में ट्रेनिंग दी जा रही थी।

मोहाली बम धमाकों के पीछे आईएसआई का हाथ

9 मई 2022 को मोहाली में पंजाब पुलिस के खुफिया विभाग के मुख्यालय पर बमबारी की गई थी। इसके लिए रॉकेट का इस्तेमाल किया गया। विभिन्न एजेंसियों की जांच में पता चला है कि इसके पीछे आईएसआई का हाथ था।

सुंदरता को प्राथमिकता

लड़कियों को सीमापार भेजे जाने की हैरान करनेवाली जानकारी मिली। इसके लिए लड़कियों की खूबसूरती को प्राथमिकता दिए जाने का संदेह तंत्रों ने जताया है।

हनी ट्रैप के लिए उपयोग

कयास लगाए जा रहे हैं कि प्रशिक्षण के बाद इनका इस्तेमाल आतंकवादी हमलों को अंजाम देने और विशिष्ट लोगों को हनी ट्रैप में फंसाने के लिए किया जा सकता है।

अन्य समाचार