मुख्यपृष्ठअपराध४० साल पुराना खुलेगा राज! ईडी ने हांगकांग सरकार को लिखा पत्र

४० साल पुराना खुलेगा राज! ईडी ने हांगकांग सरकार को लिखा पत्र

  • मिर्ची के पार्टनर हुमायूं की मांगी जानकारी
  • कोकीन की तस्करी में हुआ था गिरफ्तार

सामना संवाददाता / मुंबई
मुंबई प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने ४० साल पुराने कोकीन तस्करी मामले में गैंगस्टर इकबाल मिर्ची के करीबी सहयोगी हुमायूं मर्चेंट की सजा का विवरण मांगते हुए हांगकांग के अधिकारियों को एक पत्र लिखा है, जिसमें उनकी पत्नी को भी गिरफ्तार किया गया था। ईडी ने हांगकांग पुलिस से मर्चेंट के बैंक खाते का विवरण भी मांगा है। इससे इकबाल मिर्ची और हुमायूं के बीच हुए कई ट्रांजेक्शन का खुलासा होने का अनुमान है।
हुमायूं मर्चेंट गैंगस्टर इकबाल मिर्ची का करीबी है। इकबाल मिर्ची दाऊद इब्राहिम के लिए ड्रग्स तस्करी के कारोबार को देखता था। २०१९ में ईडी ने मनी-लॉन्ड्रिंग मामले में इकबाल मिर्ची को गिरफ्तार किया था। एजेंसी ने दावा किया कि मर्चेंट ने १९८६ में ड्रग्स तस्करी और जबरन वसूली जैसे क्राइम से कमाए पैसे का उपयोग करके मिर्ची को वर्ली में प्रॉपर्टी खरीदने में मदद की थी। ईडी ने दावा किया कि मर्चेंट को १९८०-८१ में हांगकांग में अपनी दूसरी पत्नी नसरीन फरीद एड्रोस के माध्यम से मुंबई से हांगकांग तक कोकीन की तस्करी के आरोप में गिरफ्तार किया गया था। यह दावा किया गया था कि एड्रोस को पुख्ता सबूत के अभाव में बरी कर दिया गया था लेकिन मर्चेंट को दोषी ठहराया गया और सात साल कैद की सजा सुनाई गई। मिर्ची की पत्नी के खिलाफ आरोपों को साबित करने के लिए कोई सबूत नहीं मिला, ऐसे में सरकारी वकील ने बताया कि मिर्ची की गतिविधियां लंबे समय से चल रही थीं, लेकिन मामला देर से दर्ज हुआ इसलिए कोर्ट ने एजेंसी से पहले के मामलों और धन के लेन-देन का विवरण प्रदान करने को कहा है। ऐसे में अब ईडी ने हांगकांग अथॉरिटी को लेटर लिखकर डिटेल मांगी है।

 

अन्य समाचार