मुख्यपृष्ठखेलबैडमिंटन में ४१ साल का सूखा खत्म!

बैडमिंटन में ४१ साल का सूखा खत्म!

एशियन गेम्स २०२३ में भारतीय स्टार बैडमिंटन खिलाड़ी एचएस प्रणॉय ने एक बड़ी उपलब्धि हासिल की है। एशियन गेम्स के इतिहास में बीते ४१ सालों में बैडमिंटन पुरुष सिंगल्स इवेंट में पदक लाने वाले पहले भारतीय बन गए हैं। उन्होंने इस इवेंट में ब्रॉन्ज मेडल जीता है। प्रणॉय इस एशियन गेम्स में लाजवाब प्रदर्शन करते हुए बैडमिंटन पुरुष सिंगल्स के सेमीफाइनल में पहुंचे थे, लेकिन यहां उन्हें चीन के ली शी फेंग के हाथों हार का सामना करना पड़ा। वे पहला गेम करीब से हारे, लेकिन दूसरे गेम में वे कोई टक्कर नहीं दे पाए। प्रणॉय ने यह सेमीफाइनल मुकाबला १६-२१, ९-२१ से गंवाया। हालांकि, सेमीफाइनल तक पहुंचने के कारण उन्होंने ब्रॉन्ज मेडल पहले ही पक्का कर लिया था। एशियन गेम्स के इतिहास में प्रणॉय दूसरे ऐसे बैडमिंटन खिलाड़ी बन गए हैं, जिन्होंने पुरुष सिंगल्स में कोई पदक हासिल किया है। इससे पहले भारत के सैयद मोदी ने इस इवेंट में पदक जीता था। उन्होंने १९८२ के एशियन गेम्स में ब्रॉन्ज मेडल जीता था।

अन्य समाचार