मुख्यपृष्ठनए समाचार४२ इलेक्ट्रिक बसों का क्या? ...नहीं मिल रहा ठेकेदार ठाणे मनपा परेशान

४२ इलेक्ट्रिक बसों का क्या? …नहीं मिल रहा ठेकेदार ठाणे मनपा परेशान

सामना संवाददाता / ठाणे
ठाणे परिवहन सेवा में १२३ नई इलेक्ट्रिक बसों को विभिन्न चरणों में शामिल किया जाना तय है। उनमें से १३ बसें आ चुकी हैं, जबकि शेष बसों को शामिल किया जाना है। ‘राष्ट्रीय स्वच्छ हवा’ पहल के तहत ४२ बसों के लिए टेंडर निकाला गया है, लेकिन अब तक ठेकेदारों का कोई प्रतिसाद नहीं मिला है। ठेकेदार न मिलने की वजह से इन ४२ इलेक्ट्रिक बसों को परिवहन बेड़े में शामिल करने में वक्त लगना तय है।
बता दें कि केंद्र सरकार की ‘राष्ट्रीय स्वच्छ हवा’ पहल के तहत प्राप्त ५८ करोड़ रुपए की धनराशि से कुल १२३ इलेक्ट्रिक बसों को खरीदा जाना तय है। इनमें से १३ इलेक्ट्रिक बसों को ठाणे मनपा परिवहन के बेड़े में शामिल कर लिया गया है। अगले चरण में कुल ४२ इलेक्ट्रिक बसों को ठाणे परिवहन के बेड़े में शामिल करने के लिए टेंडर निकाला गया है। प्रशासन इन बसों को जुलाई या अगस्त में सेवा में लाने पर जोर दे रहा था, लेकिन टेंडर प्रक्रिया को ठेकेदारों का प्रतिसाद ही नहीं मिला इसलिए टेंडर की समय-सीमा को बढ़ा दिया गया है।
क्या कहता है प्रशासन?
परिवहन सूत्रों ने बताया है कि नियम व शर्तों के कारण ठेकेदार आगे नहीं आ रहा है इसलिए अभी तक यह स्पष्ट नहीं है कि बसें सेवा में कब आएंगी, सेवा में आने वाली ४२ बसों में ९ मीटर की २५ और १२ मीटर की १७ बसें शामिल होंगी।

भंगार के पैसों से आएंगी २५ सीएनजी बसें
ठाणे मनपा परिवहन की भंगार १५३ बसों को बेचकर कुल ५ करोड़ ८२ लाख रुपए की आमदनी हुई थी। इन पैसों से २५ सीएनजी बसों को खरीदने का निर्णय लिया गया है।

अन्य समाचार