मुख्यपृष्ठसमाचारमां-बेटे की मेहनत रंग लाई! ...42 साल की मां और 24 साल...

मां-बेटे की मेहनत रंग लाई! …42 साल की मां और 24 साल का बेटे ने पास की पीसीएस की परीक्षा 

अगर हमारी सफलता से कोई सबसे ज्यादा खुश होता है तो वह होती है हमारी मां। किसी भी मां के लिए उसके बच्चों का सफल होना उसके सफलता से भी ज्यादा खुशी का पल होता है। ऐसा तो आपने कई बार देखा होगा कि मां अपने बच्चों को सफल बनाती हैं और उसे उनका सपना पूरा करते हुए देखती हैं, लेकिन आज हम एक ऐसे मां बेटे के जोड़ी के बारे में बात करेंगे जिन्होंने एक साथ तैयारी की और एक साथ केरल लोकसभा आयोग की परीक्षा क्लियर कर लिया।
केरल के मलप्पुरम में एक मां और बेटे ने साथ-साथ पब्लिक सर्विस एग्जाम (पीसीएस) क्लियर किया है।  जब इस उपलब्धि पर बेटे विवेक से बात की गई तो उन्होंने बताया, मैं और मां साथ-साथ कोचिंग क्लास जाते थे। मेरी मां ने मुझे इस बारे में बताया और पिता ने हमारी पढ़ाई-लिखाई का इंतजाम किया। हमें अपने टीचर्स से बहुत प्रेरणा मिली। हम दोनों साथ पढ़ा करते थे लेकिन कभी नहीं सोचा था कि एक साथ एग्जाम पास करेंगे। हम दोनों बेहद खुश हैं।

बता दें कि विवेक 24 साल के हैं और उनकी मां 42 साल की हैं। 42 साल की बिंदू का संघर्ष आज का नहीं है। जब उनके बेटे विवेक 10 साल के थे। वे तभी से बेटे को प्रेरित करने के लिए खुद भी किताबें पढ़ती थीं। इसी से उन्हें केरल पीसीएस एग्जाम देने का खयाल आया। आज नौ साल बाद मां और बेटा दोनों सरकारी नौकरी पा चुके हैं।

बिंदू दस साल से एक आंगनबाड़ी सेंटर में पढ़ा रही थीं। उन्होंने बताया कि उनके सफर में उनके बेटे, टीचर पति और साथियों का बहुत सहयोग रहा है। बता दें कि बिंदू ने 38वीं रैंक के साथ Lower Divisional Clerk (LDC) का एग्जाम पास किया और उनके बेटे ने 92 रैंक के साथ Last Grade Servants (LGS) का पद हासिल किया।

अन्य समाचार