मुख्यपृष्ठसमाचारदेखते-देखते निपट गए सुल्तानपुर-अमेठी के ४५,८१२ मुकदमे

देखते-देखते निपट गए सुल्तानपुर-अमेठी के ४५,८१२ मुकदमे

– ४० करोड़ रुपए के ऋण संबंधी मामले भी खत्म…  सुल्तानपुर में लगी राष्ट्रीय लोक अदालत

विक्रम सिंह / सुल्तानपुर

जिला एवं सत्र न्यायालय में राष्ट्रीय लोक अदालत का आयोजन हुआ, जहां ४५,८१२ मामलों का निस्तारण हुआ तथा बैंकों के ऋण संबंधी वादों में ३९,४२,४६,३९८ रुपए का समझौता किया गया। इससे पूर्व जिला न्यायाधीश जयप्रकाश पांडेय ने दीप प्रज्वलन कर राष्ट्रीय लोक अदालत की शुरुआत की।
प्राधिकरण के नोडल अफसर एडीजे त्रिभुवननाथ पासवान ने बताया कि समस्त पीठासीन अधिकारियों द्वारा अपने-अपने न्यायालय में नियत किए गए वादों को निस्तारित किया गया। इस राष्ट्रीय लोक अदालत में परिवार न्यायालय के प्रधान न्यायाधीश मोहम्मद अशरफ अंसारी, अपर प्रधान न्यायाधीश अंकिता शुक्ला, मधु गुप्ता एवं नीलिमा सिंह द्वारा कुल १२२ वैवाहिक वादों को तथा वैवाहिक संबंधी प्रीलिटिगेशन के नौ वाद के जरिए सुलह समझौता निस्तारित किया गया। रमेश सिंह, अध्यक्ष मोटर दुर्घटना दावा न्यायाधिकरण द्वारा ३७ वाद मोटर दुर्घटना क्लेम पेटीशन निस्तारित किया गया।
इस लोक अदालत में अपर जनपद न्यायाधीशगणों एडीजे पवन कुमार शर्मा द्वारा तीन वाद, अभय श्रीवास्तव द्वारा एक वाद, एडीजे त्रिभुवन नाथ पासवान द्वारा तीन वाद, अंकुर शर्मा द्वारा ८४ वाद, एकता वर्मा द्वारा एक वाद, जलाल मो. अकबर द्वारा एक वाद एवं अनुपम शौर्य द्वारा दो वाद तथा इसके अतिरिक्त उपरोक्त समस्त अपर जनपद न्यायाधीशगण द्वारा, कुल १,८३५ प्रीलिटिगेशन बैंक वसूली से संबंधित वादों को निस्तारित कराया गया, जिसमें बैकों के ऋण संबंधी वादों में ३९,४२,४६,३९८ रुपए का समझौता किया गया। उपरोक्त के अतिरिक्त मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट बटेश्वर कुमार द्वारा २,७०८ वाद, सिविल जज प्रवर खंड योगेश यादव द्वारा २० वाद एवं अपर मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट सिद्दीकी सैयमा जर्रार आलम द्वारा ९०४ वाद, अपर सिविल जज प्रवर खंड किरन गौड़ द्वारा ५५१ वाद, सिविल जज (प्रवर खंड) एफटीसी अंकिता सिंह द्वारा ३१० वाद, अपर मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट शालीन मिश्रा द्वारा ४३५ वाद, अपर मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट पामेला श्रीवास्तव द्वारा ७०१ वाद, अपर मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट अमित सिंह द्वारा ३०५ वाद, सिविल जज कादीपुर क्षितीश पांडेय द्वारा १६ वाद, शमवील रिजवान सिविल जज अपर खंड उत्तरी द्वारा २० वाद एवं अरुण कुमार श्रीवास्तव विशेष न्यायिक मजिस्ट्रेट द्वारा धारा १३८ एनआईएक्ट के ३७ वाद निस्तारित किए गए। इसके अतिरिक्त संतोष कुमार वर्मा न्यायाधीश घरेलू हिंसा न्यायालय द्वारा १३६ वाद निस्तारित किए गए। वहीं डीएम सुल्तानपुर एवं उनके अधीन कार्यरत समस्त पीठासीन अधिकारियों द्वारा २२,१०४ वाद तथा अमेठी डीएम और उनके अधीन कार्यरत समस्त पीठासीन अधिकारियों द्वारा १५,३६५ वाद निस्तारित कराए गए।

अन्य समाचार