मुख्यपृष्ठनए समाचारसीएपीएफ के ४६,००० कर्मियों ने ली सेवानिवृत्ति : केंद्र

सीएपीएफ के ४६,००० कर्मियों ने ली सेवानिवृत्ति : केंद्र

सामना संवाददता / नई दिल्ली

नई दिल्ली केंद्रीय गृह मंत्रालय ने बुधवार को राज्यसभा को बताया कि पिछले पांच वर्षों के दौरान छह केंद्रीय सशस्त्र पुलिस बलों (सीएपीएफ) के ४६,००० से अधिक कर्मियों ने समय से पहले सेवानिवृत्ति (वीआरएस) का विकल्प चुना।

एक रिपोर्ट के मुताबिक, गृह राज्य मंत्री नित्यानंद राय ने एक लिखित उत्तर में राज्यसभा को बताया कि इन बलों में स्वैच्छिक सेवानिवृत्ति के मामले साल-दर-साल अलग-अलग होते हैं और इस संबंध में कोई प्रवृत्ति नहीं देखी गई है।

राय ने कहा, ‘समय से पहले सेवानिवृत्ति लेनेवाले कर्मियों में से अधिकतम- २१,००० से अधिक पुरुष और महिलाएं- सीमा सुरक्षा बल (बीएसएफ) से थे, जो पाकिस्तान और बांग्लादेश सीमाओं की रक्षा करता है।’

मंत्री द्वारा उपलब्ध कराए गए आंकड़ों के अनुसार, पांच सीएपीएफ और असम राइफल्स के ४६,९३० कर्मियों ने २०१९ और २०२३ के बीच स्वैच्छिक सेवानिवृत्ति योजना (वीआरएस) ली, जिसमें सबसे अधिक २१,८६० बीएसएफ से थे। बीएसएफ को अन्य आंतरिक सुरक्षा कर्तव्यों के अलावा मुख्य रूप से पाकिस्तान और बांग्लादेश के साथ भारतीय सीमाओं की रक्षा करने का काम सौंपा गया है, बीएसएफ कर्मियों की संख्या लगभग २.६५ लाख है।

अन्य समाचार