मुख्यपृष्ठनए समाचारअडानी के खिलाफ आज सड़कों पर उतरेंगे ५० हजार धारावीकर!

अडानी के खिलाफ आज सड़कों पर उतरेंगे ५० हजार धारावीकर!

सामना संवाददाता / मुंबई
झोपड़पट्टी वासियों को भरोसे में लिए बिना पुनर्विकास थोपनेवाले घोटालेबाज अडानी के खिलाफ धारावीकर एकजुट हो गए हैं। आज ९ अगस्त क्रांति दिवस के मौके पर ५० हजार धारावीकर ‘अडानी चले जाओ, धारावी बचाओ’ का नारा बुलंद करेंगे। शिवसेना समेत १२ राजनीतिक दल शाम ५ बजे एन. शिवराज मैदान में होनेवाली सभा में शामिल होंगे।
धारावीकरों ने यह रुख अपनाया है कि हमारा पुनर्विकास का विरोध नहीं है, बल्कि घोटालेबाज अडानी का विरोध है। मुंबई के मध्य क्षेत्र और एशिया की सबसे बड़ी झोपड़पट्टी धारावी का पुनर्विकास करने के लिए राज्य की शिंदे-फडणवीस सरकार ने बिना निविदा प्रक्रिया आयोजित किए पुनर्विकास के लिए अडानी समूह के साथ एक समझौता किया। हालांकि, यह समझौता धारावीकरों के हित में नहीं बल्कि अडानी को लाभ पहुंचाने के लिए किया गया है। इस तरह की भावना धारावीकरों में देखी जा रही है। इसका धारावी में शिवसेना समेत १२ राजनीतिक दलों, स्वयंसेवी संस्थ् सामना संवाददाता / मुंबई
झोपड़पट्टी वासियों को भरोसे में लिए बिना पुनर्विकास थोपनेवाले घोटालेबाज अडानी के खिलाफ धारावीकर एकजुट हो गए हैं। आज ९ अगस्त क्रांति दिवस के मौके पर ५० हजार धारावीकर ‘अडानी चले जाओ, धारावी बचाओ’ का नारा बुलंद करेंगे। शिवसेना समेत १२ राजनीतिक दल शाम ५ बजे एन. शिवराज मैदान में होनेवाली सभा में शामिल होंगे।
धारावीकरों ने यह रुख अपनाया है कि हमारा पुनर्विकास का विरोध नहीं है, बल्कि घोटालेबाज अडानी का विरोध है। मुंबई के मध्य क्षेत्र और एशिया की सबसे बड़ी झोपड़पट्टी धारावी का पुनर्विकास करने के लिए राज्य की शिंदे-फडणवीस सरकार ने बिना निविदा प्रक्रिया आयोजित किए पुनर्विकास के लिए अडानी समूह के साथ एक समझौता किया। हालांकि, यह समझौता धारावीकरों के हित में नहीं बल्कि अडानी को लाभ पहुंचाने के लिए किया गया है। इस तरह की भावना धारावीकरों में देखी जा रही है। इसका धारावी में शिवसेना समेत १२ राजनीतिक दलों, स्वयंसेवी संस्थाओं, २०० संगठनों और विभिन्न मंडलों ने कड़ा विरोध किया है। विभागप्रमुख महेश सावंत, पूर्व विधायक बाबूराव माने, धारावी संगठक विट्ठल पवार, उपविभागप्रमुख प्रकाश आचरेकर के नेतृत्व में सभा की जोरदार तैयारी की गई है। धारावी का पुनर्विकास कई वर्षों से रुका हुआ है। धारावीकरों को उम्मीद है कि पुनर्विकास से कुछ अच्छा होगा और हर झोपड़ाधारक को कम से कम ४०० फीट का घर मिलेगा। ााओं, २०० संगठनों और विभिन्न मंडलों ने कड़ा विरोध किया है। विभागप्रमुख महेश सावंत, पूर्व विधायक बाबूराव माने, धारावी संगठक विट्ठल पवार, उपविभागप्रमुख प्रकाश आचरेकर के नेतृत्व में सभा की जोरदार तैयारी की गई है। धारावी का पुनर्विकास कई वर्षों से रुका हुआ है। धारावीकरों को उम्मीद है कि पुनर्विकास से कुछ अच्छा होगा और हर झोपड़ाधारक को कम से कम ४०० फीट का घर मिलेगा।

अन्य समाचार

लालमलाल!