मुख्यपृष्ठसमाचारउड़ता यूपी! ...22 जिलों से 5 करोड़ के मादक द्रव्यों के साथ 785...

उड़ता यूपी! …22 जिलों से 5 करोड़ के मादक द्रव्यों के साथ 785 लोग गिरफ्तार

आरोपियों की संपत्ति जप्त कर सार्वजनिक स्थानों पर लगेंगे पोस्टर 
मनोज श्रीवास्तव/लखनऊ। उत्तर प्रदेश के 22 जिलों में एक साथ छापा मारने के बाद 5 करोड़ के नशीले पदार्थ के साथ 785 लोगों की गिरफ्तारी ने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के पैर के नीचे से जमीन खिसका दिया। उन्होंने संबंधित अधिकारियों को राज्य में मादक पदार्थों के कारोबार में लिप्त पाए जानेवाले लोगों के खिलाफ सख्त से सख्त कार्रवाई करने का निर्देश दिया है। इस निर्देश के बाद राज्य में पहली बार ‘एंटी नारकोटिक्स टास्क फोर्स’ का गठन किया गया है। यह जानकारी राज्य के अपर पुलिस महानिदेशक (कानून-व्यवस्था) प्रशांत कुमार ने दी। उन्होंने कहा कि सरकार द्वारा मादक पदार्थों के अवैध व्यापार की रोकथाम के लिए एक ‘एंटी नारकोटिक्स टास्क फोर्स’ (एएनटीएफ) का गठन किया गया है। एएनटीएफ का पर्यवेक्षण अपर पुलिस महानिदेशक (अपराध) करेंगे और प्रथम चरण में बाराबंकी व गाजीपुर जिले में नारकोटिक्स थाना स्थापित किए जाएंगे। एएनटीएफ में केंद्र की विशिष्ट इकाइयों, मसलन स्वापक नियंत्रण ब्यूरो (एनसीबी), केंद्रीय नारकोटिक्स ब्यूरो, राजस्व खुफिया निदेशालय (डीआरआई) आदि के अधिकारियों को प्रतिनियुक्ति के तौर पर लिया जाएगा।

एएनटीएफ को मादक पदार्थों के कारोबार में लिप्त अपराधियों और माफियाओं के खिलाफ तलाशी लेने तथा गिरफ्तारी, जब्ती व जांच करने संबंधी समस्त शक्तियां प्राप्त होंगी। एएनटीएफ अधिकारी अपने कार्यक्षेत्र में किसी भी थाने में अपराधियों के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज कर खुद विवेचना कर सकेंगे। एएनटीएफ को उत्तर प्रदेश में तीन क्षेत्रों-पूर्वी, पश्चिमी और केंद्रीय क्षेत्र के रूप में विभाजित किया गया है। मुख्यालय स्तर पर पुलिस महानिरीक्षक स्तर के अधिकारी एएनटीएफ के प्रभारी होंगे, जिनके सहयोग के लिए पुलिस अधीक्षक (संचालन) एवं पुलिस अधीक्षक (मुख्यालय) की नियुक्ति की जाएगी।उत्तर प्रदेश में अवैध शराब और नशीले पदार्थों के खिलाफ चलाए जा रहे अभियान की समीक्षा के दौरान मुख्यमंत्री ने कहा कि इसे सिर्फ एक अपराधी के अपराध के तौर पर नहीं, बल्कि राष्ट्रीय अपराध के रूप में देखा जाएगा। इसमें संलिप्त माफियाओं और उनके गुर्गों के खिलाफ कठोरतम कार्रवाई की जाएगी, उनकी संपत्ति जब्त की जाएगी और सार्वजनिक स्थानों पर उनके पोस्टर लगाए जाएंगे, ताकि राष्ट्र के खिलाफ अपराध में शामिल ऐसे अपराधियों को सबक सिखाया जा सके। यूपी पुलिस ने सोमवार को सभी जिलों में हुक्का बार एवं अवैध मादक पदार्थों के तस्करों के खिलाफ एक साथ अभियान चलाया था। जिसमें 785 अभियुक्तों को गिरफ्तार किया गया और साढ़े पांच करोड़ रुपए से ज्यादा कीमत के मादक पदार्थ बरामद किए गए। राज्यभर में 342 हुक्का बार और अवैध मादक पदार्थ की तस्करी करने वालों के 4,338 ठिकानों पर छापे मारे गए।

अन्य समाचार