मुख्यपृष्ठअपराधचिटफंड करने वाले २५ लोगों पर मामला दर्ज...

चिटफंड करने वाले २५ लोगों पर मामला दर्ज…

नई मुंबई / गोविंद पाल
सीबीडी पुलिस द्वारा चिटफंड स्कीम के माध्यम से निवेश करने के नाम पर लगभग साढ़े पांच करोड़ रुपए का घोटाला किए जाने के मामले में २५ एजेंटों के खिलाफ मामला दर्ज किया गया है।
सीबीडी पुलिस के मुताबिक, इस चिटफंड स्कीम में ५ करोड़ ४७ लाख ४६,४०० रुपए गबन करने के आरोप में २५ दलालों के खिलाफ शिकायत दर्ज कराई गई है। पुलिस को आशंका है कि अभी इस मामले में और भी कई लोग सामने आ सकते हैं तथा चिटफंड के नाम पर सैकड़ों करोड़ का गबन किए जाने की उम्मीद भी जताई जा रही है। बेलापुर सेक्टर-१५ स्थित तुलसी टॉवर में तीसरे मंजिल पर ३०५ ऑफिस में चिटफंड स्कीम के जरिए लोगों को प्रलोभन दिया गया कि ३२ हजार रुपए निवेश करने पर ४० दिन बाद ५० हजार रुपए रिटर्न दिया जाएगा। इस तरह की लालच में आकर कई लोगों ने कार्यालय में जाकर निवेश करने से पहले बातचीत किया तो निवेशकों को दलालों पर यकीन हो गया और पैसे जमा करना शुरू कर दिया। उरण में रहने वाले नीरज श्यामकांत दरणे के गांव में रहने वाले उनके नजदीकी दोस्त एकनाथ भोईर का सतीश विष्णु गावंड से पहचान थी और उन्होंने चिटफंड स्कीम की जानकारी देते हुए बताया कि ३२ हजार निवेश करने पर ४० दिन बाद ५० हजार रुपए रिफंड दिया जाएगा। इस तरह की लालच में आकर बेलापुर स्थित कार्यालय में गए तो वहां पर सुजीत मनोहर म्हात्रे और नितेश धर्मा पाटील से मुलाकात हुई। इन लोगों से पूछताछ की गई तो वहां मौजूद दलालों ने अपने जाल में ऐसा फंसाया कि कई मछलियां इस जाल में फंस गई। इस तरह से हजारों की तादात में लोगों ने साढ़े पांच करोड़ रुपए से ज्यादा निवेश कर दिया, लेकिन जब उनका पैसा रिटर्न नहीं हुआ तो निवेशकों को आशंका होने लगी, इसलिए पुलिस स्टेशन पहुंच गए। अभी भी यह उम्मीद जताई जा रही है कि निवेशकों की संख्या बढ़ सकती है।

अन्य समाचार