निर्णय लेना है

क्रियाएं हैं; आपके पास!
परंतु आप कब अभ्यास करोगे?
ज्ञान से प्रेम कब करोगे?
अपने आप से कब प्रेम करोगे?
आप बहुत अमीर हैं,
आपकी फिर भी मृत्यु होगी!
आप बहुत गरीब हैं,
आपकी फिर भी मृत्यु होगी!
जब हम गुड बाई कहते हैं
तो कहते हैं फिर मिलेंगे!
पर उस आखरी गुड बाई में
हम फिर नहीं मिलेंगे!
एक दिन आप नहीं थे।
आज आप हैं।
एक दिन आप नहीं रहेंगे।
और ये जरूर होगा।
आपको अपने जीवन में
ये निर्णय लेना है कि
आप को क्या चाहिए?
यदि आप अज्ञान को चुनते हैं;यदि आप
भ्रम में रहना चाहते हैं;
ये आपका निर्णय है!
पता करें केवल
आपकी दुनिया कौन सी है!
-प्रेम रावत

अन्य समाचार