मुख्यपृष्ठटॉप समाचारदिल्ली में महाराष्ट्र का घोर अपमान : मुख्यमंत्री शिंदे पिछली कतार में!...

दिल्ली में महाराष्ट्र का घोर अपमान : मुख्यमंत्री शिंदे पिछली कतार में! राजधानी नई दिल्ली में नीति आयोग की थी बैठक

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की मौजूदगी में कई सीएम थे उपस्थित

  •  आर्थिक राजधानी वाले राज्य के सीएम को मिली पिछली ‘रो’

सामना संवाददाता / मुंबई
महाराष्ट्र का अपमान करने का एक भी मौका केंद्र की सत्ता में बैठी भाजपा नहीं छोड़ती है। यह भाजपा ने एक बार फिर साबित कर दिया है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा बुलाई गई नीति आयोग की बैठक में महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री एकनाथ शिंदे भी उपस्थित थे। बैठक समाप्त होते ही फोटो सेशन का दौर शुरू हुआ तब दिल्लीवाले नेताओं ने महाराष्ट्र का घोर अपमान किया। क्योंकि प्रधानमंत्री, कुछ मुख्यमंत्री, केंद्रीय मंत्री, अधिकारियों की भीड़ में सबसे अंतिम कतार में मुख्यमंत्री शिंदे को खड़ा किया गया था।
गौरतलब है कि नीति आयोग की बैठक कल नई दिल्ली में हुई। इस बैठक का तेलंगाना के मुख्यमंत्री के. चंद्रशेखर राव ने बहिष्कार किया, जबकि बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार अनुपस्थित थे। बैठक में मुख्य रूप से राष्ट्रीय शिक्षा नीति, कृषि और नागरीय प्रशासन पर चर्चा हुई। महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री ने बैठक में भाग लिया, लेकिन बैठक के बाद महाराष्ट्र को अपमान का सामना करना पड़ा।
उत्तर देने में किया टालमटोल
बैठक के बाद मुख्यमंत्री शिंदे ने पत्रकारों से बातचीत तो की, लेकिन कठिन प्रश्नों का उत्तर देने में टालमटोल किया। वहीं कई प्रश्नों का उत्तर घुमाकर दिया। महाविकास अघाड़ी सरकार लगातार आरोप लगा रही थी कि केंद्र से जीएसटी रिफंड  न मिलने से राज्य का विकास कार्य प्रभावित हो रहा है, इस बारे में पूछे जाने पर शिंदे ने सिर्फ इतना ही जवाब दिया कि प्रधानमंत्री ने हर संभव मदद देने का वादा किया है। शिंदे ने केवल इतना ही उत्तर दिया।
यह पहली बार ही नहीं!
पिछले एक महीने में शिंदे का सात बार दिल्ली दौरा हुआ हैं। शिंदे कैबिनेट  विस्तार के लिए दिल्ली आते हैं, लेकिन उन्हें वेटिंग पर रखा जाता है। ऐसा पहले हो चुका है। प्रधानमंत्री मोदी और गृहमंत्री अमित शाह ने एक बार शिंदे को उनसे मिलने के लिए एक दिन का इंतजार करवाया था।

अन्य समाचार

ऊप्स!