मुख्यपृष्ठनए समाचारप्रदेश में घूम रही है राजनीतिक दल चुरानेवाली टोली ...जयंत पाटील का...

प्रदेश में घूम रही है राजनीतिक दल चुरानेवाली टोली …जयंत पाटील का तीखा तंज

सामना संवाददाता / मुंबई
देश के इतिहास में किसी दल के संस्थापक ही उस दल के अध्यक्ष रहे हैं। हालांकि, अब उन्हें ही पद से हटाने का निर्णय कुछ चुनिंदा लोग कहीं और बैठकर ले रहे हैं और वे ही अध्यक्ष हैं, ऐसा दावा करके दल उनके नियंत्रण में है, ऐसा दिखावा कर रहे हैं। राज्य में मौजूदा समय में राजनीतिक दल चुरानेवाली टोली घूम रही है। इस तरह का तंज राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष जयंत पाटील ने जोड़-तोड़ की राजनीति को लेकर अजीत दादा सहित ‘घातियों’ और भाजपा पर कसा है।
इस देश में फिलहाल राजनीतिक दल चुराने का एक नया चलन शुरू है। विधायक गए तो पार्टी उनके पीछे चली जाती है, ऐसी तस्वीर देश में बनने लगी तो कोई भी राजनेता खुद की पार्टी शुरू करने के झंझट में नहीं फंसेगा। क्योंकि विधायक ही जा रहे हैं तो क्या, ऐसा सवाल करते हुए जयंत पाटील ने कल दावा किया कि अजीत पवार के साथ गए राकांपा विधायक जल्द ही घर वापसी करेंगे।
चुनाव आयोग समझदार, लेगा सही फैसला
राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी और चुनाव चिह्न घड़ी पर अजीत पवार गुट की ओर से दावा किया जा रहा है। इस संबंध में केंद्रीय चुनाव आयोग ने ६ अक्टूबर को सुनवाई तय की है। इस संबंध में बोलते हुए जयंत पाटील ने कहा कि चुनाव आयोग समझदार है। हमें विश्वास है कि वह सही पैâसला लेगा। लोकसभा और विधानसभा चुनाव की संभावना को देखते हुए उम्मीद है कि जल्द ही इस मामले में पैâसला लिया जाएगा।

अजीत पवार हमेशा सच ही बोलते हैं
शिवसेना का नाम और पार्टी चिह्न ‘घाती’ गुट को देने के संदर्भ में बोलते हुए अजीत पवार ने कहा था कि यदि मनसे का एक विधायक दावा कर दे कि पार्टी मेरी है, तो वैसा पैâसला देंगे क्या? ऐसा सवाल केंद्रीय चुनाव आयोग से पूछा गया था। इसका वीडियो इस समय सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है। इस ओर जयंत पाटील ने ध्यान आकर्षित करते हुए उन्होंने कहा कि अजीत पवार हमेशा सच और सही बोलते हैं। उन्होंने चुटकी लेते हुए कहा कि हम उनका यह वीडियो चुनाव आयोग को देंगे।

अन्य समाचार