मुख्यपृष्ठसमाज-संस्कृतिदुर्घटनाग्रस्त परिवार को मिली सरकारी सहायता

दुर्घटनाग्रस्त परिवार को मिली सरकारी सहायता

सामना संवाददाता / भायंदर

भायंदर स्टेशन के बाहर इमारत का हिस्सा गिरने से २० जुलाई को एक व्यक्ति की मौत और चार घायल हुए थे। वहीं १४ जुलाई को मूसलाधार बारिश के कारण उत्तन में घर का स्लैब गिरने से एक महिला मर गई थी। दुर्घटना में मारे गए व्यक्तियों के परिवारों को सरकारी सहायता देने की मांग लगातार हो रही थी।

बता दें कि जुलाई महीने में हुई भारी बारिश के कारण प्रदेश में कई स्थानों पर दुर्घटनाएं हुईं और बड़ी मात्रा में आर्थिक और जनहानि हुई थी। मीरा-भायंदर शहर में १४ जुलाई को उत्तन के मौजे पाली में भारी बारिश के कारण सुनीता डेनिस बोर्गिस की दुखद मृत्यु हो गई थी। इसके अलावा २० जुलाई को भायंदर-पूर्व स्टेशन के सामने नवकीर्ति नामक इमारत का एक हिस्सा ढह गया और उस दुर्घटना में दुर्गा अवधेश राम की दुखद मौत हो गई थी।

महाराष्ट्र सरकार की ओर से दोनों मृतक व्यक्तियों के परिवारों को ४-४ लाख रुपए की वित्तीय सहायता की घोषणा की गई थी। स्थानीय विधायक गीता जैन लगातार संबंधित विभाग के साथ मामले की पैरवी कर रही थीं, ताकि मृतक व्यक्तियों के परिवारों को जल्द से जल्द सरकारी सहायता मिल सके।

आखिरकार शनिवार ५ अगस्त को सरकारी सब्सिडी का चेक मृतक के परिवार को दिया गया। साथ ही दोनों परिवारों को आश्वासन दिया गया कि भविष्य में किसी भी तरह की जरूरत पड़ने उनकी मदद की जाएगी। उत्तन में हुए हादसे से प्रभावित घरों के परिवारों को घरकुल योजना के तहत घर उपलब्ध कराने का हरसंभव प्रयास किया जाएगा ताकि जर्जर मकानों या भवनों में रहनेवाले निवासियों को यथाशीघ्र विस्थापित किया जा सके। इस अवसर पर अतिरिक्त तहसीलदार नीलेश गौड, उत्तन पुलिस स्टेशन के पुलिस निरीक्षक प्रकाश मसाल, पूर्व नगरसेवक व स्थानीय नागरिक और पत्रकार उपस्थित रहे।

अन्य समाचार