मुख्यपृष्ठनए समाचारमनपा के प्रदूषण रोकने के दिशा-निर्देश से रियल इस्टेट पर पड़ सकता...

मनपा के प्रदूषण रोकने के दिशा-निर्देश से रियल इस्टेट पर पड़ सकता है असर!

– भारी वाहनों के शहर में प्रवेश पर प्रतिबंध से आपूर्ति समस्या भी बढ़ेगी

सामना संवाददाता / मुंबई

मुंबई में बढ़ते वायु प्रदूषण को नियंत्रित करने के लिए अगर शहर के भीतर भारी वाहनों का आवागमन रोक दिया जाता है तो आपूर्ति में कुछ समस्याएं पैदा हो सकती हैं, ऐसा अंदाजा लगाया जा रहा है। साथ ही रियल इस्टेट पर भी असर पड़ सकता है। दरअसल, कई बार भारी वाहनों के कारण शहर में जाम की स्थिति पैदा होती है। इसके अलावा भारी वाहन अधिकतर डीजल से चलने वाले होते हैं, जिनसे प्रदूषण ज्यादा होता है।
देश की आर्थिक राजधानी में हवा की गुणवत्ता खराब होने के बाद मुंबई के नागरिक निकाय, मुंबई मनपा ने अक्टूबर में प्रदूषण विरोधी दिशा-निर्देश जारी किए। इसके अतिरिक्त, मनपा ने कंस्ट्रक्शन और डिमोलेशन की गतिविधियों के दौरान प्रदूषण के लिए जिम्मेदार लोगों को दंडित करने के लिए एक अभियान शुरू किया गया था। मनपा ने ५ नवंबर को कहा कि तीन दिनों में ३ से ५ नवंबर तक कुल ४.७१ लाख रुपए जुर्माना वसूला गया है।
कंस्ट्रक्शन कामों में होगी देरी
कई डेवलपर्स ने कहा कि यह काफी हद तक मनपा दिशा-निर्देशों के अनुरूप है। एक डेवलपर ने बताया कि हम काफी हद तक मनपा के दिशा-निर्देशों का पालन कर रहे हैं, लेकिन अगर प्रदूषण से संबंधित मुद्दों को नियंत्रित करने के लिए शहर के भीतर भारी वाहनों के परिवहन को रोका जाता है तो आपूर्ति श्रृंखला के कुछ मुद्दे सामने आने की संभावना है। जैसे कंस्ट्रक्शन सप्लाई के लिए अधिकतर हैेवी व्हीकल का इस्तेमाल किया जाता है। ऐसे में अगर इन पर प्रतिबंध लगता है तो कंस्ट्रक्शन के कामों में देरी होगी।
बीएमसी का कंस्ट्रक्शन साइट को स्टॉप वर्क नोटिस
मुंबई की हवा को साफ रखने के लिए कंस्ट्रक्शन साइट को दिशा-निर्देशों का पालन न करने के लिए मुंबई मनपा की समय सीमा के एक सप्ताह बाद २९६ साइट को नियम का पालन करने में विफल रहने के लिए स्टॉप वर्क का नोटिस भेजा गया है। अधिकारी ने कहा कि सबसे अधिक संख्या में नोटिस १३५ के ईस्ट वॉर्ड द्वारा जारी किए गए हैं, जिसमें जोगेश्वरी-पूर्व, अंधेरी-पूर्व और विले पार्ले-पूर्व जैसे क्षेत्रों में दिशा-निर्देशों का उल्लंघन करने वाली साइटों को शामिल किया गया है। इनमें सबसे ज्यादा कई पुनर्विकास परियोजनाएं और जोगेश्वरी में एसआरए परियोजनाएं चल रही हैं, उन्हें शामिल किया गया है।

अन्य समाचार