मुख्यपृष्ठनए समाचारमराठी में साइनबोर्ड नहीं लगाया  कई दुकानदारों के खिलाफ हुई कार्रवाई! 

मराठी में साइनबोर्ड नहीं लगाया  कई दुकानदारों के खिलाफ हुई कार्रवाई! 

मुंबई। बृहन्मुंबई महानगरपालिका ने उन दुकानों, होटलों और प्रतिष्ठानों के खिलाफ अभियान चलाया, जिन्होंने मराठी साइनबोर्ड नहीं लगाया था। मनपा ने बताया कि मनपा द्वारा जारी निर्देशों का पालन नहीं करने वाले ऐसे प्रतिष्ठानों के खिलाफ कार्रवाई करने के लिए एक टीम बनाई गई है। इस बारे में मनपा के एक अधिकारी संजय सोनार ने कहा कि बहुत लंबे समय से मराठी में साइनबोर्ड लगाने की बात कही जा रही है। अब तक कई लोगों ने मराठी में साइनबोर्ड लगवा लिए, लेकिन कुछ लोगों ने इसका विरोध किया और अदालत चले गए। सुप्रीम कोर्ट का फैसला आया और उन्हें दो महीने का अल्टीमेटम दिया गया, जो २५ नवंबर को खत्म भी हो गया। हमारी कार्रवाई आज से शुरू हो गई है। जांच करने पर पता चला है कि अधिकतर मराठी में साइनबोर्ड लगे हैं, लेकिन जिन दुकानों पर नहीं लगे हैं, उन पर कार्रवाई करनी होगी। सबसे पहले हम नोटिस देंगे और फिर हम उनके लाइसेंस की जांच करेंगे। एक बार जब वे हमें अपना लाइसेंस दिखाएंगे, तो हमें कर्मचारियों की संख्या के बारे में पता चल जाएगा और फिर अदालत आगे की कार्रवाई तय करेगी। बता दें कि दरअसल, मनपा ने एक आदेश जारी कर कहा था कि मुंबई में अब दुकानों और प्रतिष्ठानों के लिए मराठी साइनबोर्ड लगाना अनिवार्य होगा। साथ ही सर्वâुलर के अनुसार, शराब की दुकानों और बार का नाम, किलों, गणमान्य व्यक्तियों और मूर्तियों के नाम पर नहीं रखना है। आदेश का उल्लंघन करने पर सख्त कार्रवाई करने की बात भी कही गई थी। मनपा ने कहा था कि इन नियमों के उल्लंघन के मामले में संबंधित दुकान और प्रतिष्ठान मालिकों के खिलाफ महाराष्ट्र दुकान और प्रतिष्ठान अधिनियम के तहत मुकदमा चलाया जाएगा।

महिला अग्निवीर ने की आत्महत्या 

मुंबई। मुंबई में एक अग्निवीर युवती ने आत्महत्या कर ली। युवती नौसेना में ट्रेनी थी। इस बारे में पुलिस ने कहा कि नौसेना में ट्रेनिंग ले रही २० वर्षीय युवती ने फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली है। सूत्रों के अनुसार, यह घटना तब हुई जब युवती भारतीय नौसेना के जहाज आईएनएस हमला पर ट्रेनिंग ले रही थी। इसी दौरान उसने सुसाइड कर लिया। बताया जाता है कि युवती केरल की रहने वाली है, जो मलाड के आईएनएस हमला पर ट्रेनिंग ले रही थी। मौके से कोई सुसाइड नोट बरामद नहीं हुआ है, लेकिन ऐसा प्रतीत होता है कि युवती ने निजी कारणों से यह कदम उठाया है। मुंबई की मालवानी पुलिस ने मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी है।

अन्य समाचार