मुख्यपृष्ठनए समाचारआदित्य ठाकरे ने बोला ... ये डर अच्छा है!

आदित्य ठाकरे ने बोला … ये डर अच्छा है!

सामना संवाददाता / मुंबई
राज्य में असंवैधानिक सरकार है। ‘गद्दार’ सरकार की ओर से किए गए ६ हजार करोड़ के सड़क घोटाले व २६३ करोड़ रुपए के स्ट्रीट फर्निचर घोटाले को लेकर हम लोकायुक्त के पास जाएंगे। हमारे मुख्यमंत्री सिर्फ मुनाफेवाला टेंडर ढूंढ़ रहे हैं तो इस सरकार में कई मंत्री व अधिकारी सरकारी पैसे से विदेश यात्रा करने में रुचि ले रहे हैं। राज्य की भलाई से उनका कोई लेना-देना नहीं, ऐसा हमला शिवसेना (उद्धव बालासाहेब ठाकरे) नेता व युवासेनाप्रमुख आदित्य ठाकरे ने ‘मातोश्री’ पर आयोजित प्रेस
कॉन्फ्रेंस में गद्दार सरकार पर किया। उन्होंने कहा कि विदेश यात्रा के नाम पर जनता के पैसों की बर्बादी की जा रही है। किसानों की समस्या के लिए मुख्यमंत्री के पास समय नहीं होने का आरोप भी उन्होंने लगाया। मुख्यमंत्री का जर्मनी लंदन दौरा और विधानसभा अध्यक्ष राहुल नार्वेकर के घाना दौरे को लेकर सवाल उठाया और कहा कि मेरे सवाल उठाने के बाद ये दोनों दौरे रद्द कर दिए गए, ये डर अच्छा है। उन्होंने कहा कि अगर बिना काम मंत्रियों को विदेश दौरा करना है तो अपने पैसे से करें, जनता के पैसे से नहीं।
राज्य की चिंता नहीं, नाच रहे हैं मुख्यमंत्री
उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री दौरे पर लंदन- जर्मनी जा रहे थे। वे हाईवे देखने जर्मनी जा रहे थे। मैंने जैसे ही सवाल पूछा कि आप जाकर क्या करेंगे? दाओस में जब वे दौरे पर गए थे तो हमने उनके कारनामे को जनता के सामने रखा था, उसका भय मुख्यमंत्री शिंदे में साफ नजर आया। इस बार जब उनसे पूछा कि क्या मुख्यमंत्री वास्तव में विदेश जाएंगे? तो मुख्यमंत्री ने ३० मिनट के भीतर ही दौरा रद्द कर दिया। यह डर अच्छा है।
उद्योग मंत्री का गजब दौरा, कोई तैयारी नहीं
उन्होंने कहा कि उद्योग मंत्री का यह तीसरा दौरा है। जनवरी में दाओस में यह सम्मेलन आयोजित होना है। ४ महीने से पहले क्या निरीक्षण करेंगे? वह गोलमेज सम्मेलन में जा रहे हैं। यह स्पष्ट नहीं है कि कौन मिलेंगे और कौन सी कंपनियां आएंगी? दाओस में जाकर उद्योग मंत्री क्या करेंगे? जनता के पैसों से यह दौरा कर क्या साबित करना है। अपने पैसे से दौरा क्यों नहीं? उन्होंने चेताया अगर अपने यह दौरा किया तो मैं रत्नागिरी निर्वाचन क्षेत्र में जाऊंगा और लोगों से पूछूंगा कि यह सही है या नहीं? यह मेरी कोई व्यक्तिगत भूमिका और द्वेष नहीं है। यह सामाजिक मुद्दा है। इस सरकार से मेरा बस इतना ही अनुरोध है कि लोगों का पैसा बर्बाद मत करो!
दशहरे की सभा पर मनपा करे विचार
आदित्य ठाकरे ने कहा शिवाजी पार्क में दशहरा रैली को लेकर मनपा को निर्णय लेने दें। इसके साथ ही उन्होंने यह भी कहा कि उपमुख्यमंत्री जापान की एक यात्रा के लिए रवाना हुए। इसके लिए परिपत्र जारी किया गया। उन्हें टोक्यो में आमंत्रित किया गया था। एमआईडीसी ने इस यात्रा का खर्च वहन किया लेकिन इस यात्रा में उद्योग मंत्री क्यों नहीं गए? इस दौरे से वास्तव में क्या हासिल हुआ? उधर उपसभापति महोदय पिछले दिनों ५० लोगों को विदेश में अध्ययन दौरे पर ले गए, उन्होंने क्या अध्ययन किया? उन्होंने कहा कि मराठा आरक्षण मामले में जनरल डायर कौन है? यह अभी तक पता नहीं चल पाया है। आखिर मराठा आरक्षण में गड़बड़ियां कैसे की गईं?

विधानसभा अध्यक्ष की
अगुवाई में लोकतंत्र की हत्या!
आदित्य ठाकरे ने विधानसभा अध्यक्ष राहुल नार्वेकर की अपात्र विधायकों की सुनवाई मामले पर जमकर खबर ली। उन्होंने कहा कि अध्यक्ष नार्वेकर भी घाना के दौरे पर जा रहे हैं। अध्यक्ष महोदय, आप संसदीय लोकतंत्र की हत्या कर रहे हैं। अपात्र विधायकों पर सुप्रीम कोर्ट ने मई में अपना पैâसला सुनाया था, लेकिन आपके पास मामले को आए ४ महीने हो गए हैं और पैâसला टलता जा रहा है। उनका भी दौरा रद्द कर दिया गया।

अन्य समाचार