मुख्यपृष्ठटॉप समाचारहोटलों में चूहे ढूंढेगा प्रशासन! ...मिला तो लगेगा मकोका

होटलों में चूहे ढूंढेगा प्रशासन! …मिला तो लगेगा मकोका

बांद्रा कांड के बाद जागी सरकार; करेगी जांच
सामना संवाददाता / मुंबई
काम-काजी भागदौड़ तथा साफ-सुथरा और स्वास्थ्यवर्धक खाना खाने के लिए ‘बड़े’ लोग बड़े होटल एवं रेस्टोरेंटों में खाना खाने की हिमायत करते हैं लेकिन बांद्रा-पश्चिम स्थित पॉश ढाबे की चिकन करी थाली में मरा हुआ चूहा मिलने से ऐसे तमाम लोगों को झटका लगा है। इस खुलासे के बाद होटलों एवं रेस्टोरेंटों के प्रति सरकारी उपेक्षा और संबंधित निभागों में भ्रष्टाचार का मुद्दा फिर सुर्खियों में आ गया है। चूहे वाली चिकन करी की खबर मीडिया में आने के बाद हड़बड़ा कर जागी सरकार अब डैमेज कंट्रोल में जुट गई है। सरकार ने बांद्रा के उक्त होटल के खिलाफ मकोका के तहत कार्रवाई की बात कही है तथा दूसरे होटलों को ऐसी सख्त कार्रवाई से बचने के लिए सतर्क रहने की चेतावनी जारी की है। इसके लिए एफडीए तथा दूसरी एजेसियों को होटलों में खासकर किचन में साफ-सफाई का जायजा लेने यानी कि वहां चूहे, कॉकरोच व दूसरे कीड़े मकोड़े न हों इसका ध्यान रखने का फरमान जारी किया है। इस मामले में स्थानीय पुलिस ढाबे के मैनेजर, कुक और चिकन सप्लायर के खिलाफ पहले ही एफआईआर दर्ज हो चुकी है।
मिली जानकारी के अनुसार शिकायतकर्ता अनुराग सिंह १३ अगस्त को अपने मित्र के साथ बांद्रा के मशहूर ढाबे में खाना खाने गए थे। वहां उन्होंने खाने के लिए ‘भुना गोश्त प्लेट’, ‘चिकन ढाबा प्लेट’ एव अन्य खाद्य पदार्थ ऑर्डर किए। रात करीब १० बजे वेटर ने एक चिकन प्लेट, एक मटन प्लेट, दो
दाल मखनी, दो दही मटका और चार पराठे परोसे थे। खाना खाते समय चिकन की प्लेट में मांस का एक अलग टुकड़ा दिखाई दिया। शिकायतकर्ता के मुताबिक, करीब से निरीक्षण करने पर पता चला कि मांस का टुकड़ा चूहे का मरा हुआ बच्चा था। वहां मौजूद शिकायतकर्ता के मित्र द्वारा चूहे के होने की पुष्टि करने के बाद उन्होंने होटल प्रबंधन से इस बारे में शिकायत की तो होटल मैनेजर इस बारे में स्पष्ट जवाब नहीं दे रहा था। इसके बाद अनुराग ने मामले की शिकायत बांद्रा पुलिस स्टेशन में दर्ज कराई तथा पुलिस ने ढाबे के मैनेजर और कुक को गिरफ्तार कर लिया।
अन्न व औषधि मंत्री धर्मराव बाबा आत्राम ने कहा है कि एफडीए के पास ३-४ दिन पहले खाने में चूहा मिलने की शिकायत आई थी। ढाबे से खाने का नमूना लेकर उसे जांच के लिए लैब में भेजा गया है। नमूने की रिपोर्ट आने के बाद उचित कार्रवाई की जाएगी। इसके साथ ही उन्होंने चेतावनी देते हुए कहा है कि यदि इस तरह का गंभीर स्वरूप का अपराध होगा तो उन पर मकोका लगाया जाएगा। इसके साथ ही ढाबे के खिलाफ कार्रवाई करते हुए लाइसेंस भी रद्द कर दिया जाएगा। यह जानकारी उन्होंने एक खबरिया चैनल पर दी है।

छापेमारी से १०० करोड़ का राजस्व मिला
अन्न व औषध प्रशासन मंत्री धर्मराव बाबा आत्राम ने जानकारी दी है कि एफडीए ने मुंबई के होटलों में छापेमारी कर जांच शुरू कर दी है। इसके लिए संबंधित अधिकारियों को आदेश दिया गया है कि वे प्रतिदिन अपने क्षेत्रों में पांच होटलों की जांच करें। किन होटलों में छापे मारने हैं, इसके भी निर्देश दिए गए हैं। मंत्री आत्राम ने कहा कि होटलों पर हुई कार्रवाई से राज्य सरकार की तिजोरी में करीब १०० करोड़ रुपए का राजस्व जमा हुआ है। दूसरी तरफ उन्होंने यह भी कहा कि चिकन की थाली में चूहा मिलने का मामला गंभीर है यदि इस तरह का मामला पाया जाता है तो मकोका के तहत कार्रवाई की जाएगी।

अन्य समाचार

लालमलाल!