मुख्यपृष्ठनए समाचारराहुल गांधी का बसपा पर बड़ा हमला.... ‘ईडी और सीबीआई से डर...

राहुल गांधी का बसपा पर बड़ा हमला…. ‘ईडी और सीबीआई से डर गई मायावती चुनाव लड़ा ही नहीं!

• गठबंधन पर भी साधे रखी चुप्पी
•  वर्ना बदल सकती थी यूपी की तस्वीर
सामना संवाददाता / लखनऊ । धन और जनसमर्थन के मामले में देश की बड़ी पार्टी बन चुकी भाजपा के ‘विकास’ की पोल कांग्रेस नेता और सासंद राहुल गांधी ने खोली है। भाजपा के लोग खुद को बड़ा बनाने के लिए धन और प्रशासनिक तंत्र (केंद्रीय जांच एजेंसियों) का यथासंभव दुरुपयोग अपने सहयोगियों एवं विरोधियों को खत्म करने के लिए कर रहे हैं। राहुल गांधी द्वारा मायावती के संबंध में किए गए एक सनसनीखेज खुलासे से इन आरोपों की पुष्टि हुई है। राहुल गांधी ने कहा कि हाल ही में संपन्न हुए यूपी विधानसभा चुनाव से पहले उन्होंने चुनावी गठबंधन के लिए बसपा की अध्यक्ष एवं पूर्व मुख्यमंत्री मायावती से संपर्क किया था। उन्होंने मायावती को मुख्यमंत्री बनाने का ऑफर भी दिया था लेकिन मायावती ने कोई प्रतिसाद नहीं दिया और चुप्पी साधे रहीं। राहुल गांधी के अनुसार मायावती ने ‘सीबीआई’, ‘ईडी’ और ‘पेगासस’ के डर से चुनाव में दूर रहने का निर्णय लिया होगा। उन्होंने सिर्फ औपचारिकता निभाने के लिए कुछ उम्मीदवारों को चुनावी मैदान में उतारा था।
यूपी विधानसभा चुनाव में भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) को बड़ी जीत मिली और राज्य में एक बार फिर योगी सरकार बन गई है। जबकि सपा, कांग्रेस और बहुजन समाज पार्टी (बसपा) सहित कई बड़ी पार्टियों को करारी शिकस्त झेलनी पड़ी। इस पर सासंद राहुल गांधी का बड़ा बयान सामने आया है। उन्होंने खुलासा करते हुए कहा कि कांग्रेस, बसपा के साथ गठबंधन करना चाहती थी, लेकिन मायावती ने जवाब तक नहीं दिया। राहुल गांधी ने कहा कि मायावती ने पूरे मन से चुनाव ही नहीं लड़ा।
हमने उन्हें गठबंधन करने के लिए कहा, लेकिन उन्होंने कोई जवाब नहीं दिया। कांशीराम ने यूपी में दलितों की आवाज उठाई। इस बार वह दलितों की आवाज के लिए नहीं लड़ीं क्योंकि इसकी वजह सीबीआई, ईडी और पेगासस हैं। राहुल गांधी ने कहा है कि हमने तो ये भी कहा था कि वो मुख्यमंत्री बन सकती हैं, लेकिन उन्होंने सीबीआई, ईडी के डर से चुनाव ही ठीक से नहीं लड़ा।

अन्य समाचार