मुख्यपृष्ठनए समाचार३ साल बाद केंद्र को आई मुंबई की याद! अब मुंबई-अमदाबाद रूट...

३ साल बाद केंद्र को आई मुंबई की याद! अब मुंबई-अमदाबाद रूट पर होगा वंदे भारत ट्रेन का ट्रायल

  • ७ सितंबर से होगा शुरू

सुजीत गुप्ता / मुंबई
मुंबई देश की आर्थिक राजधानी है। देश के उद्योगों का २५ प्रतिशत हिस्सा तथा जीडीपी का ५ प्रतिशत हिस्सा मुंबई से ही आता है। समुद्र के जरिए यहां करीब ४० फीसदी व्यापार होता है। यही नहीं देश का ७०प्रतिशत पूंजीगत लेन-देन यहीं से होता है। मुंबई पूरे देश में सबसे अधिक ३० प्रतिशत टैक्स देनेवाला शहर भी है। ऐसे में मुंंबई देश और दुनिया के लिए काफी मायने रखता है। फिर कोई नई सुविधा शुरू करने की बात हो या फिर कोई ट्रायल तकनीक की बात हो मुंबई हमेशा से इन मामलों में व्यापारियों के लिए काफी मायने रखती है लेकिन जहां तक बात वंदे भारत ट्रेन चलाने की है तो मुंबई इस बार रेलवे की नजरों में पिछड़ गई है। मुंबई से वंदे भारत ट्रेन चलाने के लिए करीब तीन साल बाद रेलवे को मुंबई की याद आई है जबकि दिल्ली से वाराणसी और कटरा के लिए पहले ही वंदे भारत चल चुकी हैं। जबकि इसे पहले ही मुंबई से शुरू हो जाना था।
भारतीय रेलवे में पहली वंदे भारत ट्रेन का कमर्शियल रन फरवरी २०१९ में दिल्ली से वाराणसी और दूसरी वंदे भारत ट्रेन नई दिल्ली से कटरा के बीच अक्टूबर २०१९ में चली। अब जाकर तीसरी वंदे भारत ट्रेन को चलाने की तैयारी मुंबई से हो रही है वो भी तीन साल बाद। रेलवे ने आगामी गुजरात चुनाव को देखते हुए जल्द वंदे भारत ट्रेन चलाने की तैयारी में है। रेलवे ने इसके लिए रूट भी तय कर दिया है और तारीख भी फाइनल हो गई है। बता दें जिस रूट पर ट्रेन को चलाया जाना है। उसी रूट पर ट्रेन का ट्रायल किया जाता है। उसी के आधार पर टाइम टेबल तैयार होता है। रेलवे के एक अधिकारी के अनुसार रूट परीक्षण के बाद सीआरएस क्लीयरेंस लिया जाएगा। बाद में तय रूट में ट्रेन को चलाया जाएगा।
७ सितंबर को ट्रायल
वंदे भारत एक्सप्रेस का रूट ट्रायल मुंबई-अमदाबाद के बीच ७ और ८ सितंबर को होगा। रूट परीक्षण में ट्रेन की जितने यात्रियों की क्षमता होती है। उतना लोड रखा जाएगा। अधिकारियों के अनुसार रूट ट्रायल के समय कुछ रेलवे के कर्मचारी बैठेंगे। अन्य सीटों पर रेत के बैग रखे जाएंगे। ट्रेन को उसी गति में दौड़ाया जाएगा। जितनी स्पीड में नियमित रूप से उसे चलाने की अनुमति रेलवे को कमिश्नर ऑफ रेलवे सेफ्टी से मिली है।
हॉल्ट होंगे कम
टाइम टेबल रूट ट्रायल के बाद तैयार किया जाएगा। रेलवे अधिकारियों के मुताबिक मुंबई-अमदाबाद के बीच हॉल्ट कम रखे जाएंगे। अधिकारी के अनुसार यदि समय पर सीआरएस का क्लीयरेंस मिलता है तो ट्रेन को नवरात्रि के दौरान शुरू किया जा सकता है। क्योंकि इस दौरान मुंबई से अमदाबाद जानेवाले यात्रियों की संख्या अधिक होती है।

अन्य समाचार