मुख्यपृष्ठनए समाचारए जी, सुनोजी...नहीं मिल रहे हैं एडीजी!... आईजी, डीआईजी और एसपी के...

ए जी, सुनोजी…नहीं मिल रहे हैं एडीजी!… आईजी, डीआईजी और एसपी के आधे पद पड़े हैं खाली

सामना संवाददाता / मुंबई

केंद्र में बतौर प्रतिनियुक्ति पर आनेवाले आईपीएस अधिकारियों का तय कोटा भर पाने में प्रशासन असफल साबित हो रहा है। इस लापरवाही के कारण ही अधिकारियों को अतिरिक्त पदभार का कार्य करना पड़ता है। इसी वजह से केंद्र में प्रतिनियुक्ति को लेकर आईपीएस अधिकारी कतराते नजर आते है।
बता दें कि केंद्रीय गृह मंत्रालय की ११ अगस्त २०२३ की रिपोर्ट के मुताबिक, डीजी के १५ स्वीकृत पदों में से दो खाली थे, लेकिन एसडीजी के सभी दस पद भरे हुए थे। एडीजी के २६ पदों में से केवल दो स्थान खाली थे। आईजी के १३८ पदों में से २० पद रिक्त हैं। डीआईजी के २५५ पदों में से ८६ पद रिक्त थे और एसपी रैंक के २२५ पदों में से ९५ पद खाली बताए गए हैं। सीबीआई में एसपी स्तर पर आईपीएस के लिए स्वीकृत ७३ पदों में से ४२ पद खाली पड़े हैं, जबकि ‘आईबी’ में एसपी स्तर पर आईपीएस के लिए स्वीकृत ८३ पदों में से ३४ पद खाली पड़े हैं।
एनआईए में भी एसपी स्तर पर आईपीएस के लिए स्वीकृत ३६ पदों में से सात पद खाली पड़े हैं। एनपीए में एसपी स्तर पर आईपीएस के लिए स्वीकृत १४ पदों में से ८ पद खाली पड़े हैं। हालांकि, १९ सितंबर को मुकेश सिंह आईपीएस (एजीएमयूटी १९९६) को आईटीबीपी में आईजी बनाया गया है। २१ अगस्त को राकेश अग्रवाल (पंजाब १९९९) को सीआरपीएफ का आईजी बनाया गया है। २१ अगस्त को ही पटेल पीयूष पुरुषोतम दास (गुजरात १९९८) को बीएसएफ में आईजी बनाया गया है।

अन्य समाचार