मुख्यपृष्ठनए समाचारशिवाजी महाराज की जयंती पर राजनीति करनेवाली भाजपा को अजीत पवार ने...

शिवाजी महाराज की जयंती पर राजनीति करनेवाली भाजपा को अजीत पवार ने लगाई फटकार!

सामना संवाददाता / मुंबई । छत्रपति शिवाजी महाराज की तिथि अनुसार जयंती है। इस मौके पर महाविकास आघाड़ी के कई मंत्रियों, विधायकों ने विधान भवन परिसर में छत्रपति शिवाजी महाराज की प्रतिमा पर माल्यार्पण कर उनका अभिनंदन किया। फिर भी महाराज का फोटो रखकर अभिवादन क्यों नहीं किया गया? ऐसा मुद्दा भाजपा नेता सुधीर मुनगंटीवार ने उपस्थित किया था। इस मौके पर उपमुख्यमंत्री अजीत दादा पवार ने मुंहतोड़ जवाब देते हुए महाराज की जयंती पर राजनीति करनेवाले राजनेताओं को जमकर फटकार लगाई। इस सरकार के आने से पहले सुधीर मुनगंटीवार राज्य के वित्त मंत्री थे। उस समय अधिवेशन के दौरान कभी भी तिथि के अनुसार जयंती नहीं मनाई गई।
फोटो कभी नहीं लगाया गया था। छत्रपति शिवाजी महाराज जयंती के बारे में बहस करने की बजाय हम सभी के वे देवता हैं। यह अटल सत्य है। पूर्व में जब आघाड़ी की सरकार थी तो दिवंगत पूर्व मंत्री रामकृष्ण मोरे ने महाराज के जन्म की तारीख का पता लगाने के बाद रामकृष्ण मोरे ने तारीख तय की थी। तब से महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री शिवनेरी में शिवजयंती मना रहे हैं। आज तक सभी मुख्यमंत्रियों ने इस प्रथा को जारी रखा है। सरकार द्वारा १९ फरवरी को महाराज की जयंती मनाई जाती है। राज्य के मुख्यमंत्री कल महाराज की जयंती शिवसेनाप्रमुख के रूप में वहां मनाने गए हैं। शिवसेनाप्रमुख बालासाहेब ठाकरे के समय से शिवजयंती मनाई जा रही है। हम तिथि के अनुसार वर्षगांठ मना रहे हैं। कोई भी नागरिक जो अपना जयंती तिथि या तारीख के अनुसार मना सकता है।

अन्य समाचार