मुख्यपृष्ठसमाचारशराब ने किया बेहोश, लोगों ने किया अंतिम संस्कार! ...आंख खुलते ही...

शराब ने किया बेहोश, लोगों ने किया अंतिम संस्कार! …आंख खुलते ही उड़ गए होश!

नशा कोई भी हो सेहत के लिए हानिकारक होता है। इससे आपका स्वास्थ्य खराब होता है। शरीर के कई अंग धीरे-धीरे काम करना बंद कर देते हैं। कई बार नशेड़ी लोग सड़क पर इधर-उधर बेसुध होकर पड़े मिलते हैं। उस वक्त उन्हें बिल्कुल भी होश नहीं होता। ऐसे ही एक शराबी की कहानी सोशल मीडिया पर वायरल हो रही है। शराब पीने की आदत की वजह से यह शख्स बहुत बड़ी मुसीबत में पड़ गया। उस शराबी की जान जाते-जाते बची।

मरा समझकर कर दिया अंतिम संस्कार
दरअसल, 30 साल के विक्टर ह्यूगो मिका एवरेज नाम का शख्स शराब पीने के शौक की वजह से ऐसी मुसीबत में पड़ गया, जो जिंदगी भर नहीं भूल पाएगा। विक्टर ह्यूगो मिका एवरेज को मरा समझकर लोगों ने उसका अंमित संस्कार कर दिया। यह शख्स दक्षिण अमरीका के टोबा जनजाति का है। जब नशे में धुत शख्स की आंख खुली तो उसके होश उड़ गए।

 

अजीबोगरीब था ये हादसा
डेली स्टार की रिपोर्ट के अनुसार, टोबा जनजाति अर्जेंटीना, पैराग्वे और बोलिविया में पाई जाती है। विक्टर ह्यूगो एक सेरेमनी में पहुंचे थे, वहां उनके साथ एक हादसा हो गया। दरअसल, विक्टर को उसके एक दोस्त ने इस सेरेमनी में शराब पीने के लिए आमंत्रित किया था। वहां विक्टर ने काफी शराब पी और डांस कर रहा था। इसके बाद जब उसकी आंख जब खुली तो उसने खुद को एक कब्र के अंदर ताबूत में बंद पाया। एवरेज का कहना है कि उन्हें पेशाब के लिए जाना था, तब जाकर उन्हें एहसास हुआ कि वो एक ताबूत में है। इसके बाद उसके होश उड़ गए।

एवरेज ने बताया कि उसने बहुत मुश्किल से ताबूत का शीशा तोड़ा, जहां से थोड़ी मिट्टी अंदर आई। वह किसी तरह से कॉफिन से बाहर आने में सफल हो गया। इसके बाद उसने मदद के लिए गुहार लगाई और वहां पास में मौजूद एक शख्स की मदद से बाहर आया। इसके बाद वह पुलिस स्टेशन पहुंचा। विक्टर ने पुलिस को बताया कि वह सेरेमनी के लिए जहां गए थे, वहां से 80 किलोमीटर दूर उन्होंने खुद को ताबूत में पाया। उन्हें टोबा जनजाति के लोगों की ओर से पचामामा यानि धरती माता को बलि के तौर पर चढ़ाया गया था। अगर उनकी आंख वक्त पर न खुलती तो मौत हो जाती। हालांकि जब एवरेज ने ये बात पुलिस को बताई तो उन्हें ये नशे में गढ़ी गई कहानी लगी।

 

 

अन्य समाचार