मुख्यपृष्ठविश्वएलियंस बना रहे हैं ब्रह्मांड में ब्रह्मांड! हार्वर्ड यूनिवर्सिटी के प्रोफेसर का...

एलियंस बना रहे हैं ब्रह्मांड में ब्रह्मांड! हार्वर्ड यूनिवर्सिटी के प्रोफेसर का सनसनीखेज दावा

एजेंसी / नई दिल्ली
एलियंस को लेकर किसी का कहना है कि वो हमारे बीच में हैं तो किसी का दावा है कि अभी वो हमसे संपर्क नहीं करना चाहते हैं। इसी बीच हार्वर्ड यूनिवर्सिटी के एक प्रोफेसर ने एक सनसनीखेज दावा किया है। उनका कहना है कि एलियंस शायद ब्रह्मांड को ही बनाने में लगे हुए हैं। उनका दावा है कि एलियंस ने हमारे ब्रह्मांड जैसे कई ब्रह्मांड लैब में बना लिए हैं।
हार्वर्ड यूनिवर्सिटी के एस्ट्रोनॉमी डिपार्टमेंट के पूर्व अध्यक्ष एवी लोएब एलियंस की मौजूदगी को साबित करने में जुटे हुए हैं। उनका कहना है कि एलियंस हमसे ज्यादा एडवांस्ड हैं। उनके पास लैब में छोटे-छोटे यूनिवर्स यानी ब्रह्मांड को तैयार करने की काबिलियत है।
मिली जानकारी के मुताबिक, प्रोफेसर लोएब इन दिनों प्रशांत महासागर में अंतरिक्ष से आकर गिरे एक ऑब्जेक्ट के बरामद हुए टुकड़ों पर स्टडी कर रहे हैं। लोएब ने बताया कि एलियंस सभ्यताएं हमसे लाखों साल आगे हैं। उन्होंने इस बात को समझ लिया है कि आखिर किस तरह से क्वांटम मैकेनिक्स और ग्रेविटी यानी गुरुत्वाकर्षण को एकजुट करना है। प्रोफेसर के मुताबिक, ऐसा करने पर वो स्थिति पैदा होती है, जिसके जरिए ब्रह्मांड अस्तित्व में आता है। भले ही लैब में ब्रह्मांड तैयार करने की बात थोड़ी अजीब लगती है मगर वैज्ञानिकों ने पहले भी सिंगल सेल ऑर्गेनिज्म बनाए हैं। प्रोफेसर का कहना है कि ये एक ऐसी क्वालिटी है, जो हम धार्मिक ग्रंथों में ईश्वर को देते हैं। हालांकि, कई सारे वैज्ञानिकों ने प्रोफेसर लोएब के दावों पर सवाल उठाए हैं।
ओमुआमुआ को बताया एलियंस का जहाज
प्रोफेसर लोएब सालों से अपने दावों को लेकर सुर्खियों में रहे हैं। उनका सबसे हैरतअंगेज दावा ये था कि २०१७ में वैज्ञानिकों के जरिए खोजा गया ओमुआमुआ नाम का अंतरिक्ष का एक ऑब्जेक्ट एलियंस का जहाज था। उनके इस दावे को लेकर वैज्ञानिकों ने उनकी आलोचना की थी। हालांकि, इसके बाद भी प्रोफेसर लोएब अपनी रिसर्च में जुटे हैं और लोगों को गलत साबित करना चाहते हैं।

अन्य समाचार

लालमलाल!