मुख्यपृष्ठनए समाचारछठ पूजा की भीड़ के सामने रेलवे के सभी दावे फेल... बोरे...

छठ पूजा की भीड़ के सामने रेलवे के सभी दावे फेल… बोरे में सामान की तरह बोगियों में ठूंसे जा रहे लोग

– एसी कोच भी बने जनरल… डिब्बे में घुसने तक के लिए मारामारी

योगेंद्र सिंह ठाकुर / पालघर

छठ पूजा को बिहार-यूपी में सबसे बड़ा त्योहार माना जाता है और इस मौके पर दूसरे प्रदेशों में रह रहे लाखों लोग अपने घर लौटते हैं। इस वजह से देश के सभी बड़े शहरों में यूपी-बिहार जाने वाली ट्रेन में भारी भीड़ उमड़ रही है। हालात ऐसे हैं कि ट्रेनों में लोगों को जगह नहीं मिल रही है। ट्रेनों में जनरल, स्लीपर और AC कोच का एक जैसा हाल हो गया है। जिन लोगों ने पहले रिजर्वेशन करवा भी लिया है, उन्हें भी अपनी सीट पर भीड़ का सामना करना पड़ रहा है। यहां तक कि सीट का रिजर्वेशन होने के बाद भी यात्री जान दांव पर लगाकर ट्रेन के डिब्बे में घुस रहे हैं। रेलवे स्टेशन की जो तस्वीरें सामने आई हैं, वो डराने वाली हैं। उमड़ती भीड़ को देख कर लगता है कि रेलवे के लोगों को सुविधाओं के सभी दावे सिर्फ कागजों तक सीमित है।
उमड़ रही भारी भीड़
मुंबई के लोकमान्य तिलक टर्मिनल से बिहार जाने वाली गाड़ियों में भारी भीड़ उमड़ी, हर व्यक्ति किसी तरह ट्रेन में सवार हो जाना चाहता था और इसके लिए धक्का-मुक्की भी हो रही थी। आरक्षित बोगियों में भीड़ है और लोगों को एक-एक सीट के लिए काफी जद्दोजहद करनी पड़ रही है। यात्रियों को बोरों की तरह ठूंस कर ले जाया जा रहा है।
पालघर जिले में टिकट न मिलने से लोग परेशान
पालघर और बोईसर जैसे इलाकों में करीब डेढ़ हजार से ज्यादा फैक्ट्रियां हैं। इनमें बिहार और उत्तर प्रदेश से आने वाले लाखों लोग काम करते हैं। यहां से हजारों लोग छठ पर्व पर अपने गांव जाते हैं, लेकिन इस बार भी टिकट नहीं मिलने से वह काफी परेशान हैं। लोग 5/ 5 हजार तक में टिकट खरीदने को मजबूर हैं। कई ऐसे लोग भी हैं, जिन्होंने भारी भीड़ को देखते हुए यात्रा कैंसिल कर दी है। लोगों का कहना है कि कई कई दिनों तक प्रयास के बाद भी उन्हें टिकट नहीं मिल पा रहा है।
मुंबई हो या फिर दिल्ली या सूरत सभी रेलवे स्टेशनों पर हालात एक जैसे हैं। बोईसर के एक यात्री ने बताया कि बिहार जाने के लिए उन्हें एलटीटी रेलवे स्टेशन से ट्रेन पकड़नी थी, वो समय से स्टेशन भी पहुंच गए, लेकिन यहां हजारों की भीड़ थी, जैसे बोरे में लोग सामान ठूंसते हैं, वैसे ही बोगियों में लोगों को ठूंसा जा रहा था। उन्होंने बताया कि रेलवे स्टेशन पर भगदड़ जैसी स्थिति थी।
सूरत में गई थी एक यात्री की जान
बता दें कि दिवाली से एक दिन पहले 11 नवंबर को गुजरात के सूरत रेलवे स्टेशन पर भी ट्रेन पर चढ़ने के दौरान भगदड़ की घटना सामने आई थी। रेलवे स्टेशन पर काफी भीड़ थी। लोग ट्रेन के जरिए अपने-अपने घर जा रहे थे और इसी दौरान बिहार जा रही एक ट्रेन स्टेशन पर पहुंची तो उसमें चढ़ने के वक्त यात्रियों में भगदड़ मच गई। इस दौरान एक व्यक्ति की मौत हो गई थी, जबकि तीन से चार लोग बेहोश हो गए थे। सूरत रेलवे स्टेशन पर एम्बुलेंस द्वारा घायलों को प्राथमिक उपचार दिया गया। उपचार के दौरान एक घायल शख्स की मौत हो गई।
विमान टिकट महंगा
अधिकांश विमान कंपनियों ने छठ पूजा से पहले उड़ान भरने वाले विमानों के किराए में दो से तीन गुना तक बढ़ोतरी कर दी है। आमतौर पर रेलगाड़ी से सफर करने वाले अधिकांश यात्री विमान की महंगी टिकट नहीं खरीद पाते, वहीं त्योहार के मौके पर विमान के किराए में बढ़ोतरी होने पर सामान्य लोगों के लिए फ्लाइट का टिकट खरीदना सपने जैसा है।

अन्य समाचार