मुख्यपृष्ठसमाचारगठबंधन धर्म का नहीं करती है पालन; भाजपा साथी का करती है...

गठबंधन धर्म का नहीं करती है पालन; भाजपा साथी का करती है अपमान!

  • जेडीयू के राष्ट्रीय अध्यक्ष ललन सिंह ने लगाया आरोप

सामना संवाददाता / नई दिल्ली
जनता दल (यूनाइटेड) के राष्ट्रीय अध्यक्ष ललन सिंह ने भाजपा पर उनकी पार्टी को नुकसान पहुंचाने की कोशिश करके ‘गठबंधन धर्म’ का उल्लंघन करने का आरोप लगाया, जिसके कारण बिहार में उनका गठबंधन टूट गया। ललन सिंह ने यह भी आरोप लगाया कि मुख्यमंत्री नीतीश कुमार पर जेडीयू के भीतर से गठबंधन से बाहर निकलने का दबाव था, क्योंकि पार्टी नेताओं का भाजपा द्वारा ‘अपमान’ किया जा रहा था। भाजपा २०१४ से अपने हर सहयोगी का अपमान कर रही है। सिंह ने कहा कि भाजपा ने गठबंधन धर्म का पालन नहीं किया। वर्तमान भाजपा नेतृत्व को बताना चाहिए कि २०१४ की तुलना में गठबंधन में कितने एनडीए सहयोगी बचे हैं। क्योंकि उन्होंने हर पार्टी का अपमान किया। वे अपने सहयोगियों का अपमान करके गठबंधन चलाना चाहते हैं।
लोजपा को हमारे खिलाफ उकसाया
भाजपा ने २०२० के विधानसभा चुनावों में हमारे खिलाफ साजिश करना शुरू कर दिया। उन्होंने हमारी संख्या कम करने और हमें खत्म करने के प्रयास शुरू कर दिए। उन्होंने लोजपा को हमारे खिलाफ अपने उम्मीदवार उतारने के लिए उकसाया। ललन सिंह ने दावा किया कि यह संगठन के भीतर का दबाव था जिसने नीतीश कुमार का हाथ थामा। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री पर नेताओं की ओर से दबाव था कि उनका अपमान किया जा रहा है, फिर नीतीश कुमार ने गठबंधन खत्म कर दिया।
भाजपा हारेगी १६ लोकसभा सीट
दावा करते हुए उन्होंने कहा कि २०२४ के चुनाव में भाजपा कई सीटों पर हार जाएगी। सिंह ने कहा कि पश्चिम बंगाल में चुनाव लड़ने के लिए उम्मीदवारों को ढूंढना भी मुश्किल होगा और बिहार में भी भारी नुकसान होगा। उन्होंने कहा कि भाजपा की बिहार में कम से कम १६ सीटों पर हार होगी।

अन्य समाचार

सब ठीक है?