मुख्यपृष्ठनए समाचारकचरा न उठाए जाने के कारण फूटा गुस्सा! ...मनपा मुख्यालय पर कचरा...

कचरा न उठाए जाने के कारण फूटा गुस्सा! …मनपा मुख्यालय पर कचरा फेंक किया विरोध प्रदर्शन

सामना संवाददाता / भिवंडी

भिवंडी शहर में समय से कचरा न उठाए जाने के कारण अब जनता का गुस्सा फूटने लगा है। कचरा न उठाए जाने से आक्रोशित लोगों ने यूथ कांग्रेस के पूर्व शहर अध्यक्ष अरफात खान के नेतृत्व में मनपा मुख्यालय के प्रवेश द्वार पर कचड़ा फेंककर विरोध प्रदर्शन किया। हालांकि स्वास्थ्य विभाग द्वारा कचरा स्पॉट का निरीक्षण कर कचरा उठाने के आश्वासन के बाद आंदोलन स्थगित हुआ।

भिवंडी मनपा के सामने आंदोलन कर रहे यूथ कांग्रेस के पूर्व शहर अध्यक्ष अरफात खान ने आरोप लगाते हुए बताया कि मनपा क्षेत्र में प्रतिदिन लगभग 450 टन कचरा निकलता है। जिसे उठाकर डंपिंग ग्राउंड तक पहुंचने के लिए मनपा ने निजी ठेकेदार नियुक्त किया है।लेकिन ठेकेदार मनपा अधिकारी से मिलीभगत कर बिना कचरा उठाए बिल ले रहे हैं। उन्होंने आरोप लगाते हुए बताया कि पूरे शहर में जगह- जगह कचरे का अंबार लगा है। जिसे उठाने के लिए घंटा गाड़ियां नहीं जाती है। शांतिनगर सहित अन्य अल्पसंख्यक इलाके के लोग कचरे से परेशान हैं। अरफात खान ने बताया कि गौसिया मस्जिद क्षेत्र में जमा कचरा न उठने से बरसात के मौसम में उसके सड़न व दुर्गंध से नागरिक संक्रमण बीमारियों की चपेट में आ रहे हैं। जावेद खान ने बताया कि मनपा प्रशासन से समय-समय पर शिकायत करने के बाद भी मनपा स्वच्छता विभाग मामले को नजरअंदाज कर रही है। जिसके कारण आक्रोशित नागरिकों के साथ मनपा के मनमानी कारभार का विरोध करते हुए मनपा के सामने कचड़ा फेंक कर आंदोलन किया गया। इस विरोध प्रदर्शन के कारण मनपा मुख्यालय का प्रवेश द्वार बंद कर दिया गया था।

अन्य समाचार

लालमलाल!