मुख्यपृष्ठटॉप समाचारकृष्ण भक्तों का गुस्सा! सरकार और सांसद पर उठे सवाल

कृष्ण भक्तों का गुस्सा! सरकार और सांसद पर उठे सवाल

कमलकांत उपमन्यु / मथुरा
मथुरा में इन दिनों ब्रज परिक्रमा चल रही है। मगर वहां श्रद्धालुओं के लिए योगी सरकार की ओर से कोई व्यवस्था नहीं की गई है। कृष्ण भक्तों को कीचड़ भरे रास्ते से होकर गुजरना पड़ रहा है। ऐसे में कृष्ण भक्तों का गुस्सा भाजपा सरकार पर फूट पड़ा है। लोग सरकार और स्थानीय सांसद पर सवाल उठा रहे हैं हिंदुओं के लिए उन्होंने वहां क्या किया है?
गौरतलब है कि मथुरा में इन दिनों स्थानीय सांसद हेमा मालिनी के नेतृत्व में ब्रज महोत्सव चल रहा है। इस दौरान कई कार्यक्रमों का आयोजन किया गया है, जिसमें हेमा मालिनी का नृत्य होना है। १४ दिनों के इस आयोजन पर मोटी धनराशि खर्च की गई है। सीएम योगी इस कार्यक्रम में शामिल होकर लौट चुके हैं और अब प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी कल देव उठान एकादशी के दिन यहां आनेवाले हैं। दूसरी तरफ ब्रज परिक्रमा के श्रद्धालुओं के लिए सरकार की ओर से कोई व्यवस्था नहीं की गई है। इस समय ब्रज परिक्रमा के तहत तीनों वनों की परिक्रमा चल रही है।

कीचड़ भरे रास्ते से कर रहे हैं परिक्रमा
वॉर्ड नंबर ४५ से आगे अक्रूर वृंदावन की तरफ से आने वाली परिक्रमा मार्ग की हालत काफी खराब है। रास्ते में कीचड़ पैâला हुआ है। लोग यहां पर कीचड़ और कांटों के बीच से निकलने को मजबूर हैं। फिसलन हो रही है। श्रद्धालु गिर रहे हैं। जगह-जगह पर गंदगी का अंबार लगा हुआ है। लोग उसमें से गुजरकर परिक्रमा कर रहे हैं। सीएम योगी ने ब्रज परिक्रमा के लिए कागज पर तो करोड़ों रुपए की योजना बनाई है, पर वो पैसा न जाने कहां जा रहा है। स्थानीय लोग अधिकारियों पर भ्रष्टाचार का आरोप लगा रहे हैं। जिला प्रशासन को पहले से ही पता होता है कि परिक्रमा कहां से और कैसे गुजरती है। सड़कें कितनी खराब हैं। मगर इसके बावजूद वे गहरी नींद में सोए रहते हैं।

मथुरा-वृंदावन में हालत यह है कि श्रद्धालु परिक्रमा मार्ग के काफी खराब हालत में होने के बावजूद भी भगवान की परिक्रमा कर रहे हैं। इस बारे में भक्तों ने स्थानीय सांसद हेमा मालिनी को एक खुला खत भी लिखा है, जिसमें क्षेत्र की बदतर हालत का जिक्र है। इसके साथ ही ब्रज परिक्रमा के खराब रास्तों का वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल भी हो चुका है। खत में बताया गया है कि देश-विदेश से लोग मथुरा-वृंदावन और तीनों वनों की परिक्रमा करने आते हैं और यहां की खराब छवि लेकर जाएंगे। मथुरा की यह दशा इसलिए भी चिंता की बात है, क्योंकि भाजपा सरकार तमाम मंदिरों का पुनरोद्धार करा रही है। आकर्षक कॉरिडोर बना रही है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के निर्वाचन क्षेत्र वाराणसी में करोड़ों रुपए खर्च करके काशी विश्वनाथ का कॉरीडोर बनाया गया है। इसी तरह उज्जैन में भी महाकाल के कॉरीडोर पर करोड़ों रुपए खर्च किए गए हैं। अयोध्या में राम जन्मभूमि पर रामलला का भव्य मंदिर बन रहा है। मगर कृष्ण की नगरी मथुरा के प्रति भाजपा सरकार के रवैये से क्षेत्र की जनता खासी नाराज है।

अन्य समाचार