मुख्यपृष्ठनए समाचारपुलिस द्वारा जेसीबी चालक की पिटाई से नाराज ग्रामीणों ने पुलिसकर्मियों को...

पुलिस द्वारा जेसीबी चालक की पिटाई से नाराज ग्रामीणों ने पुलिसकर्मियों को ही दौड़ा लिया

मोतीलाल चौधरी / कुशीनगर

कुशीनगर जिले में नेबुआ नौरंगिया थाना क्षेत्र के सिरसिया कला गांव के सिरसिया वीरभान टोला में एक जेसीबी चालक को पुलिसकर्मी अकारण पीटने लगे। इससे नाराज गांव के लोगों ने पुलिसकर्मियों को लाठी-डंडों के साथ दौड़ा लिया। लोगों की नाराजगी देख पुलिसकर्मी वहां से भाग खड़े हुए, जिसके बाद गांव के लोग चालक को ट्राली से लेकर थाने पहुुंचे और प्रदर्शन कर पुलिसकर्मियों के खिलाफ कार्रवाई करने की मांग की। वहीं पुलिस का तर्क है कि खनन की सूचना पर पुलिस पहुंची थी। एसपी ने हेड कांस्टेबल अरविंद गिरी को निलंबित कर दिया है।
मिली जानकारी के अनुसार, सिरसिया कला गांव के सिरसिया वीरभान टोला में शुक्रवार को अरमान अंसारी जेसीबी से एक खेत से मिट्टी खुदाई कर जेसीबी लेकर मालिक के घर जा रहा था। जेसीबी चालक के भाई हजरत ने बताया कि थाने की गाड़ी लेकर निकले हेड कांस्टेबल अरविंद गिरी व अन्य पुलिसकर्मी रोक कर रिश्वत मांगने लगे। चालक ने उनकी मांग पूरी नहीं की और जेसीबी लेकर मालिक विनोद यादव के दरवाजे पर खड़ी कर घर जाने लगा। आरोप है कि पीछे से पहुंचे पुलिसकर्मी उसे डंडे से मारने लगे। उसकी चीख पुकार सुनकर अगल-बगल गांव के लोग जुटकर विरोध किए, तो पुलिसकर्मी लोगों पर भी धौंस जमाने लगे। इससे नाराज गांव के लोगों ने लाठी-डंडों के साथ पुलिसकर्मियों को दौड़ा लिया। लोगों की नाराजगी देख पुलिसकर्मी वहां से भाग गए। इसके बाद पुलिस की पिटाई से गंभीर रूप से घायल चालक को लोग ट्राली से लेकर थाने पहुंचे और दोषी पुलिसकर्मियों पर कार्रवाई करने की मांग को लेकर विरोध प्रदर्शन करने लगे।
जानकारी होने पर एसएचओ हर्षवर्धन सिंह ने सूझबूझ का परिचय देते हुए नाराज गांव के लोगों को समझा-बुझाकर शांत कराया। उन्होंने दोषी पुलिसकर्मियों के खिलाफ कार्रवाई करने का आश्वासन दिया। इसके बाद गांव के लोग शांत हुए। घायल जेसीबी चालक को एसएचओ ने थाने की गाड़ी से इलाज के लिए नेबुआ नौरंगिया क्षेत्र की कोटवा सीएचसी भेजवाया। एसएचओ हर्षवर्धन सिंह ने कहा कि खनन की सूचना पर पुलिस गई थी। पुलिस की गलती है कि उसे अपनी कार्रवाई न कर इसकी सूचना खनन विभाग को देनी चाहिए थी। गांव के लोग चालक को पीटने का आरोप लगा रहे है, तो दोषी पुलिसकर्मियों पर कार्रवाई की जाएगी।

अन्य समाचार