मुख्यपृष्ठस्तंभउत्तर की उलटन-पलटन : चाचा के लिए खुल जा सिम सिम

उत्तर की उलटन-पलटन : चाचा के लिए खुल जा सिम सिम

श्रीकिशोर शाही
चुनाव में उलटन-पलटन तो चलता ही रहता है। बोले तो दलबदल या साथी बदल। इस काम में बिहार के मुख्यमंत्री नीतिश कुमार टॉप पर हैं। जब मन करता है भाजपा के साथ हाथ मिला लेते हैं, फिर कसम खाते हैं कि आरजेडी के साथ कभी नहीं। कुछ महीनों बाद मन उचट गया तो आरजेडी के साथ चले जाते हैं और कहते हैं कि भाजपा के साथ कभी नहीं। तो ये कसमे-वादे का दौर चलता रहता है। बहरहाल, पीएम मोदी के रोड शो में नीतिश की बॉडी लैंग्वेज कुछ ढीली-ढाली नजर आई। बस आरजेडी के एक्टिव बॉस तेजस्वी यादव ने इसे परख लिया और अपने प्रिय चाचा पर प्यार भरा तीर चला दिया। बोले, चाचा उदास हैं। रोड शो में मोदी जी ने उनको नीचे खड़ा कर दिया और खुद ऊपर चढ़ गए। सो चाचा का मन करे तो इधर का दरवाजा खुला है। चाहे तो वापस आ जाएं। लालू ने नीतिश के लिए कड़े शब्दों का भले ही प्रयोग किया हो, पर तेजस्वी एकदम पक्के पॉलिटिशियन बन चुके हैं। वे नितिश के लिए कभी भी कड़े शब्दों का इस्तेमाल नहीं कर रहे हैं। क्या पता कब चाचा का मूड बदल जाए?

पांचवें चरण में चार नए योद्धा
पांचवें चरण में २० मई को बिहार की पांच सीटों पर मतदान है। ये सीटें हैं मुजफ्फरपुर, सीतामढ़ी, मधुबनी, सारण और हाजीपुर। मुजफ्फरपुर सीट को अगर छोड़ दिया जाए तो सभी सीटों पर नए योद्धा पुराने प्रत्याशियों के सामने ताल ठोक रहे हैं। सारण लोकसभा में भाजपा प्रत्याशी राजीव प्रताप रूडी का मुकाबला राजद की नई योद्धा रोहिणी आचार्य से है। राजद ने अपनी नई योद्धा को विजयी बनाने के लिए पूरी ताकत लगा रखी है। हाजीपुर से चिराग पासवान का मुकाबला राजद प्रत्याशी शिवचंद्र राम से है। चिराग पहली बार हाजीपुर से चुनाव लड़ रहे हैं। सीतामढ़ी में भी नए योद्धा के रूप में देवेश चंद्र ठाकुर चुनावी मैदान में ताल ठोक रहे हैं। पिछले चुनाव में यहां से जदयू के सुनील कुमार पिंटू ने राजद के अर्जुन राय को हराया था। मधुबनी में भी भाजपा के अशोक यादव का मुकाबला नए योद्धा राजद के अली अशरफ फातमी से है। ऐसे में पांचवें चरण में बिहार में नए योद्धा क्या गुल खिलाते हैं यह देखना दिलचस्प होगा।

कमल, जेल, पंजा, बाहर
तिहाड़ जेल से बाहर आने के बाद दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल अब पूरी तरह चुनाव प्रचार के मोड में आ गए हैं। कल दिल्ली में कांग्रेस प्रत्याशियों के लिए उन्होंने बिल्कुल अनोखे अंदाज में वोट मांगा। एक तरह से उन्होंने मतदाताओं को गणित का फॉर्मूला समझाने के अंदाज में बताया कि अगर आपने कमल का बटन दबाया तो मुझे जेल जाना पड़ेगा। अगर आप पंजे का बटन दबाओगे तो मैं बाहर ही रहूंगा। केजरीवाल ने प्रचार के दौरान चांदनी चौक लोकसभा सीट पर कांग्रेस प्रत्यासी जेपी अग्रवाल और उत्तर-पश्चिमी दिल्ली से उम्मीदवार उदित राज के पक्ष में रोड शो किया। केजरीवाल ने मॉडल टाउन, चांदनी चौक लोकसभा क्षेत्र में रोड शो निकाला और उसके बाद जहांगीरपुरी, उत्तर-पश्चिमी लोकसभा इलाके में पहुंचे। चांदनी चौक में रोड शो के दौरान केजरीवाल ने जनता को संबोधित करते हुए कहा, `इन्होंने मुझे जेल भेज दिया, मेरा कसूर बस इतना था कि मैंने आपके बच्चों के लिए शानदार स्कूल बनवाए। मैंने आपके इलाज के लिए मोहल्ला क्लीनिक बनवाए। मैंने २४ घंटे बिजली फ्री कर दी।’ प्रचार के दौरान केजरीवाल जेल में हुई प्रताड़ना का भी जिक्र करना नहीं भूलते। अब देखना है कि दिल्ली की जनता पर केजरीवाल की इन बातों का कितना असर पड़ता है।

अन्य समाचार