मुख्यपृष्ठअपराधअंतर्वेग : प्यार में बना कातिल

अंतर्वेग : प्यार में बना कातिल

नागमणि पांडेय

कहते हैं प्यार अंधा होता है। क्योंकि प्यार में व्यक्ति किसी भी हद तक जाने को तैयार रहता है। प्यार में जान देने और लेने की भी तैयारी रहती है। प्यार में प्रेमी को प्रेमिका के लिए हर हद तक जाने के लिए तैयार रहते हुए आपने देखा होगा या सुना होगा। लेकिन उत्तर प्रदेश के सुलतानपुर में प्रेमिका की बहन के साथ छेड़खानी करने रिटायर्ड दारोगा के बेटे सफदर की हत्या कर दी गई। गोसाईगंज थानाक्षेत्र के बरूई गांव स्थित आंबेडकर पार्क के पास २० अगस्त की सुबह १० बजे थाना क्षेत्र के सुरौली गांव निवासी सफदर इमाम की गोली मारकर हत्या कर दी गई थी। एसपी सोमेन वर्मा ने गोसाईगंज पुलिस के साथ ही टीम को खुलासे के लिए लगाया था। टीम व गोसाईगंज पुलिस ने इस हत्याकांड को अंजाम देने वाले जासापारा निवासी नीरज सिंह उर्फ भोलू, बरूई निवासी राज सिंह उर्फ राजा सिंह और जासापारा निवासी पंकज कुमार को गिरफ्तार किया है। आरोपियों के पास से हत्या में इस्तेमाल तमंचा, जिंदा कारतूस समेत कारतूस बरामद हुआ है। एसपी ने बताया कि हत्यारोपियों को गोसाईगंज कादीपुर मार्ग पर स्थित जासापारा मोड़ से गिरफ्तार किया गया है। पकड़े गए अभियुक्त नीरज सिंह ने बताया कि पड़ोसी ग्राम बरुई में मेरा एक लड़की से प्रेम संबंध चल रहा है। उसकी एक छोटी बहन है, जिसे सफदर अक्सर आते-जाते छेड़ता था। इसकी शिकायत उसने अपनी बड़ी बहन से की। ये बात नीरज की प्रेमिका ने नीरज को बताई। नीरज ने सफदर इमाम को सबक सिखाने की ठान ली। इसी कड़ी में २० अगस्त को जब सफदर नीरज के गांव जासापारा किसी काम से आया था। प्लानिंग के तहत नीरज ने राज सिंह, राजन कुमार व पंकज को साथ लेकर आंबेडकर पार्क आए। चारों आरोपी अंबेडकर पार्क से थोड़ी दूर पर ग्राम बरुई जाने वाली पक्की सड़क पर खड़े हो गए। सफदर को आता देख इन लोगों ने रोक लिया बातों-बातों में बहस होने लगी। तभी सफदर इमाम ने बाइक से उतरकर नीरज व राज को थप्पड़ मार दिया, जिसके बाद नीरज ने तमंचा निकालकर उसके ऊपर फायर कर दिया। गोली सफदर के सिर में लगी और वह वहीं सड़क किनारे गिर गया। हत्या के बाद सभी आरोपी मौके से फरार हो गए थे।
बेटे ने मां को
कुल्हाड़ी से काटा 
मुंबई से सटे पालघर जिले के विरार इलाके में एक नाबालिग बेटे ने अपनी ही मां की बेरहमी से कुल्हाड़ी से काट कर हत्या कर दी। इस वारदात के बाद पूरे इलाके में सनसनी पैâल गई। एक बेटा अपनी मां की हत्या कर सकता है यह सोचकर सभी लोग दंग हैं। दिल दहला देनेवाली ये वारदात विरार की माजीवली देपिवली ग्राम पंचायत की है मृतक महिला का नाम सुनीता है। पिछले साल चुनाव में वह ग्राम पंचायत की सदस्य चुनी गई थी। आरोपी बेटे को अपनी मां के चरित्र पर शक था। वारदात वाली रात जब महिला अपने कमरे में सो रही थी, तभी उसके बेटे ने उसकी गर्दन और जबड़े पर कुल्हाड़ी से वार कर दिया। थोड़ी देर के बाद जब उसका पति आया तो वह फौरन खून से लथपथ पत्नी को भिवंडी अस्पताल लेकर गया लेकिन इलाज के दौरान उसकी मौत हो गई। हालांकि, पुलिस को पहले पति पर संदेह था लेकिन पड़ताल के बाद पता चला कि बेटे ने हत्या की है। पूछताछ के दौरान आरोपी बेटे ने पुलिस के सामने अपना अपराध कुबूल कर लिया है।

अन्य समाचार