मुख्यपृष्ठनए समाचारअंतर्वेग: मदद करने में मोल ली मुसीबत!

अंतर्वेग: मदद करने में मोल ली मुसीबत!

नागमणि पांडेय

किसी मुसीबत में फंसे इंसान की मदद करना अच्छा कर्म माना जाता है। लेकिन एक युवक को मदद करना भारी पड़ गया। जब कुछ लूटेरे एक यात्री से मोबाइल और पैसे लूटने का प्रयास कर रहे थे तो पीड़ित युवक ने रोकना चाहा, लेकिन उस युवक को जान से हाथ धोना पड़ गया। उत्तर-पूर्व दिल्ली के एक सामुदायिक केंद्र के पास एक व्यक्ति खून से लपथपथ पड़ा हुआ था। उसे जब अस्पताल पहुंचाया गया तो डॉक्टरों ने मृत घोषित कर दिया। उसकी गर्दन और सीने पर चार बार चाकू से वार किया गया था। पुलिस ने इस मामले में शक के आधार पर एक रिक्शाचालक और उसके दोस्त को गिरफ्तार किया। पूछताछ में पता चला कि दोनों ने महज ४०० रुपए नकदी और मोबाइल लूटने के लिए इस हत्या को अंजाम दिया था और लाश को पार्क में फेंक दिया था।

पुलिस ने बताया कि उत्तर-पूर्व दिल्ली में एक सामुदायिक केंद्र के पास पार्क में १९ दिसंबर २०२३ को विजय (बदला हुआ नाम) का शव बरामद किया गया था। डीसीपी उत्तर-पूर्व जॉय टिर्की ने बताया कि वेलकम पुलिस स्टेशन में एक पीसीआर कॉल में लाश के बारे में सूचना दी गई थी। इसके बाद पुलिस मौके पर पहुंची और शव को पोस्टमार्टम के लिए ले जाया गया। पुलिस ने जब इस मामले की जांच शुरू की तो पीड़ित की पहचान विजय के रूप में की गई। विजय एक बेरोजगार युवक था और अपनी बहनों पर निर्भर था। इस मामले में छानबीन के बाद पुलिस ने शक के आधार पर ई-रिक्शा चालक शहजाद और उसके सहयोगी ताहिर (सभी बदले हुए नाम) को गिरफ्तार कर लिया।

सीसीटीवी से लगा सुराग

पुलिस ने सीसीटीवी फुटेज की जांच की और १८ दिसंबर की रात ११.२९ बजे के आस-पास अलग-अलग स्थानों पर पीड़ित दिखाई दिया। पुलिस ने सभी वाहनों की जांच की तो पुलिस का ध्यान एक ई-रिक्शा पर गया। इसके बाद पुलिस ने जल्द ही संदिग्ध की पहचान शहजाद के रूप में कर ली, जिसे बाद में गिरफ्तार कर लिया गया। पुलिस की पूछताछ के दौरान शहजाद ने अपना अपराध कबूल कर लिया। आरोपी शहजाद ने पुलिस को बताया कि उसने अपने दोस्त ताहिर के साथ मिलकर उसके रिक्शा में सवार यात्री विजय से उसका मोबाइल फोन और ४०० रुपए लूट लिए थे। जब पीड़ित ने लूट की कोशिश का विरोध किया तो आरोपियों ने उसे ई-रिक्शा से बाहर धकेलने से पहले उसके सीने और गर्दन पर चाकू से वार किए और उसे रास्ते में फेंककर फरार हो गए। डीसीपी टिर्की के मुताबिक, पुलिस ने लूटा गया मोबाइल फोन, सिम कार्ड और खून से सने कपड़े बरामद कर लिए हैं।

अन्य समाचार