मुख्यपृष्ठनए समाचारब्रिटेन का एरिस; महामारी की आशंका से फिर सहमी दुनिया, ३१ जुलाई...

ब्रिटेन का एरिस; महामारी की आशंका से फिर सहमी दुनिया, ३१ जुलाई २०२३ को कोविड के नए वैरिएंट ईजी.५.१ की हुई पहचान

सामना संवाददाता / मुंबई
साल २०२० में आया कोरोना वायरस का डर अभी भी लोगों के दिल से खत्म नहीं हुआ है कि इससे जुड़ी हुई एक और खबर सामने आ रही है। बता दें कि कोरोना का नया वेरिएंट एरिस आ गया है, जिसकी वजह से लोगों की चिंता बढ़ गई है। बता दें कि यूके में इस वेरिएंट से संक्रमित लोगों की संख्या में बढ़ोतरी भी देखी गई है। जहां पर एक तरफ इस संक्रमण को लेकर विश्व स्वास्थ्य संगठन ने चिंता जताई है, वहीं दूसरी तरफ ये भी कहा है कि यह वेरिएंट पिछले सभी वेरिएंट के मुकाबले ज्यादा गंभीर नहीं है।
कोरोना का है वंशज 
कोरोना के नए वेरिएंट की जानकारी सबसे पहले १० जुलाई को सामने आई थी, जिसके बाद से स्वास्थ्य विभाग लगातार इस पर अपनी नजर बनाए हुए है। लेकिन मिली जानकारी के अनुसार, पता चला है कि वेरिएंट एरिस लगातार पैâलता जा रहा है और इसके मरीजों की संख्या में काफी इजाफा देखा जा रहा है। यूके की स्वास्थ्य सुरक्षा एजेंसी के अनुसार, पता चला है कि ओमायक्रॉन वायरस का ही एरिस वेरिएंट वंशज है। जिसकी वजह से विशेषज्ञों के द्वारा इसे ईजी.५.१ नाम दिया गया है। ताजा डेटा से पता चला कि एरिस वेरिएंट से संक्रमित मरीजों का आंकड़ा तेजी से बढ़ रहा है। यूके स्वास्थ्य सुरक्षा एजेंसी के मुताबिक, यूके में ७ नए कोविड मामलों में से एक एरिस वेरिएंट का ही है।

अन्य समाचार

लालमलाल!