मुख्यपृष्ठनए समाचारअर्पिता मर्डर केस: ‘वनंतरा’ में परोसा जाता था हिरणों का मांस, सींगों...

अर्पिता मर्डर केस: ‘वनंतरा’ में परोसा जाता था हिरणों का मांस, सींगों से बनाया जाता था भस्म!

सामना संवाददाता / देहरादून
उत्तराखंड के ऋषिकेश स्थित वनंतरा रिसॉर्ट में १९ साल की अर्पिता भंडारी (बदला हुआ नाम) मर्डर केस को लेकर हर रोज चौंकाने वाले खुलासे हो रहे हैं। इस मामले में पुलिस द्वारा आरोपियों की गिरफ्तारी के अलावा प्रशासन ने आरोपी पुलकित के रिसॉर्ट को जमींदोज कर दिया। इस बीच वनंतरा रिसॉर्ट को लेकर एक और बड़ा दावा किया जा रहा है, जिससे उत्तराखंड के वन विभाग में हड़कंप मचा हुआ है। दरअसल, आरोपी पुलकित आर्य के रिसॉर्ट में हिरण और अन्य जंगली जानवरों का शिकार कर मांस को पार्टियों में परोसे जाने की बात सामने आई है।
सूत्रों के मुताबिक रिसॉर्ट में एक केज (पिंजरा) होने की बात सामने आई है, जिसमें हिरणों और जंगली जानवरों को रखा जाता है। बताया जा रहा है कि रिसॉर्ट में जानवरों का शिकार कर उन्हें पार्टियों में परोसा जाता था। वहीं जानवरों के सींगों का इस्तेमाल भस्म बनाने के लिए किया जाता था। उधर, इसको लेकर उत्तराखंड पुलिस-प्रशासन भी अलर्ट हो गया है। पुलिस मामले की जांच में जुट गई है।
पुलकित की पैरवी को वकीलों की ना
अर्पिता भंडारी के आरोपी पुलकित आर्य, अंकित और सौरभ भास्कर की कोर्ट में पैरवी करने से कोटद्वार के वकीलों ने इनकार कर दिया है। कोटद्वार बार एसोसिएशन के अध्यक्ष अजय कुमार पंत की अध्यक्षता में हुई बैठक में निंदा प्रस्ताव पारित किया गया है। वहीं कोटद्वार में वकीलों द्वारा आरोपियों का मुकदमा नहीं लड़ने के फैसले के कारण सभी आरोपियों की जमानत पर सुनवाई नहीं हुई। आरोपियों की न्यायिक हिरासत ६ अक्टूबर को खत्म हो रही है।

अन्य समाचार