मुख्यपृष्ठनए समाचारचुनाव आते ही शिंदे सरकार को आई अस्पतालों की सुध ... जेजे,...

चुनाव आते ही शिंदे सरकार को आई अस्पतालों की सुध … जेजे, सेंट जॉर्ज और कामा का होगा कायाकल्प! … मुंबई की जनता को लुभाने की है कोशिश

धीरेंद्र उपाध्याय / मुंबई
शिंदे सरकार के राज में मुंबई में सरकारी अस्पतालों की अवस्था बिल्कुल ही विकट बनी हुई है। कहीं संसाधनों की कमी है तो कहीं अपर्याप्त सुविधाएं हैं। इतना ही नहीं कई अस्पतालों में दवाओं की प्रचुर मात्रा में किल्लत है। इसके बावजूद इन समस्याओं को दूर करने पर बल देने की बजाय अब तक यह सरकार अनदेखी करते आ रही है। हालांकि, लोकसभा और विधानसभा चुनाव के नजदीक आते ही शिंदे सरकार को मुंबई के तमाम सरकारी अस्पतालों की सुध आ गई है। इसके तहत मुंबई के जेजे, सेंट जॉर्ज और कामा अस्पताल का कायाकल्प करने का पैâसला किया गया है। इस क्रम में इन अस्पतालों में नए विभाग शुरू किए गए हैं, इसके अलावा कुछ और विभागों का भी इसी सप्ताह उद्घाटन किए जाने की संभावना है। ऐसे में कहा जा रहा है कि चुनाव नजदीक आते ही शिंदे सरकार मुंबईकरों को लुभाने का प्रयास कर रही है, जिसमें सफलता मिलना मुश्किल है।
मुंबई के बड़े सरकारी अस्पतालों की फेहरिस्त में शामिल जेजे में के कैथ लैब का आधुनिकीकरण कर दिया गया है। नई प्रणाली शुरू होने के बाद प्रतिदिन १५ एंजियोप्लास्टी, एंजियोग्राफी और हृदय वाल्व रिप्लेसमेंट सर्जरी करना संभव होगा। इसकी मदद से न केवल मरीजों को बेहतर इलाज मिलेगा, बल्कि हर साल पांच हजार मरीजों की सर्जरी होगी। जेजे अस्पताल में चार नए वॉर्डों का नवीनीकरण किया गया है। बाल चिकित्सा सर्जरी, कान-नाक गला सर्जरी, न्यूरोसर्जरी विभाग और एक अन्य वॉर्ड का नवीनीकरण किया गया है। ये वॉर्ड सुविधाओं से सुसज्जित हैं। इससे मरीजों को बेहतर स्वास्थ्य सुविधाएं मिल सकेंगी। इसके अलावा अस्पताल में चार और वॉर्डों का नवीनीकरण कार्य चल रहा है। जेजे अस्पताल की डीन डॉ. पल्लवी सापले ने कहा कि यह काम मार्च के अंत तक पूरा हो जाएगा।
सेंट जॉर्ज में होगा लीवर ट्रांसप्लांट
कई महीनों के इंतजार के बाद सेंट जॉर्जेस अस्पताल में भी लीवर ट्रांसप्लांट सेंटर खुलेगा। इसके लिए राज्य सरकार द्वारा एक सर्जन, एक फिजिशियन, एक गैस्ट्रोएंटेरोलॉजिस्ट और रेजिडेंट डॉक्टर की एक टीम नियुक्त की गई है। साथ ही इस सेंटर में लीवर ट्रांसप्लांट के लिए एचएन रिलायंस अस्पताल के लीवर ट्रांसप्लांट विशेषज्ञ डॉ. एच. एन. रवि मोहांका के साथ अनुबंध पर हस्ताक्षर किया गया है। इसके मुताबिक डॉ. रवि मोहांका और उनकी टीम सेंट जॉर्जेस अस्पताल में लीवर ट्रांसप्लांट के लिए आनेवाले मरीजों का ऑपरेशन करेगी। यह टीम अस्पताल में डॉक्टरों को लीवर प्रत्यारोपण के लिए प्रशिक्षित भी करेगी। डॉ. पल्लवी सापले ने कहा कि लीवर ट्रांसप्लांट सर्जरी की प्रक्रिया चल रही है और अगले एक से डेढ़ महीने में ट्रांसप्लांट के लिए रजिस्ट्रेशन की प्रक्रिया शुरू कर दी जाएगी।
लीवर रोग के लिए विशेष ओपीडी
सेंट जॉर्ज अस्पताल में लीवर संबंधी बीमारियों के इलाज के साथ-साथ लीवर प्रत्यारोपण के लिए एक विशेष ओपीडी विभाग शुरू किया जाएगा। इस विभाग में चिकित्सक लीवर से संबंधित बीमारियों से पीड़ित मरीजों का इलाज करेंगे।

कामा में खुलेगा पहला आईवीएफ सेंटर
कामा अस्पताल के चिकित्सा अधीक्षक डॉ. तुषार पालवे ने कहा कि बांझपन से पीड़ित दंपति को किफायती उपचार प्रदान करने और माता-पिता बनने की उनकी इच्छा को पूरा करने के लिए कामा अस्पताल में स्थापित किया जा रहा कृत्रिम गर्भाधान (आईवीएफ) केंद्र पूरा हो गया है। यह राज्य सरकार के अस्पताल में पहला कृत्रिम गर्भाधान केंद्र है। इसी सप्ताह इस केंद्र का उद्घाटन भी किया जाएगा। उन्होंने कहा कि इससे कई महिलाओं को मां बनने का सपना पूरा करने में मदद मिलेगी।

अन्य समाचार