मुख्यपृष्ठटॉप समाचाररामकुंड पंचवटी परिसर में उतरी अयोध्या! शिवसेनापक्षप्रमुख उद्धव ठाकरे के...

रामकुंड पंचवटी परिसर में उतरी अयोध्या! शिवसेनापक्षप्रमुख उद्धव ठाकरे के हाथों पवित्र गोदावरी की महाआरती, शाम छह बजे कालाराम मंदिर में पूजा और उसके बाद आरती करेंगे।

सामना संवाददाता / मुंबई
अयोध्या नगरी में आज सोमवार को रामलला के मूर्ति की प्राण प्रतिष्ठा हो रही है। इसी बीच प्रभु रामचंद्र की कर्मभूमि नासिक स्थित रामकुंड पंचवटी क्षेत्र में भी सचमुच अयोध्या नगरी अवतरित हुई है। प्रदेश के कोने-कोने से आए भक्त कल से ही रामकुंड में पहुंचकर वस्त्र, दीप और पुष्प अर्पण कर रहे हैं। ‘जयदेवी जयदेवी जय गंगा माई, पावन कर मज सत्वर विश्वाचे आई’ इस तरह से आरती गाते हुए भक्तों ने गोदावरी नदी से प्रार्थना की। इस दौरान ‘प्रभु रामचंद्र की जय’ जैसे गगनभेदी जयघोष गूंज उठे। आज शिवसेनापक्षप्रमुख उद्धव ठाकरे के हाथों पवित्र गोदावरी नदी के तट पर शाम सात बजे महाआरती होगी।
लगभग साढ़े तीन सौ वर्षों की परंपरा वाले पंचवटी रामकुंड परिसर को प्रभु रामचंद्र के निवास से पुनर्जीवित हो गया है। पंच रामकुंड का स्थान अत्यधिक धार्मिक महत्व रखता है, क्योंकि प्रभु रामचंद्र स्नान के लिए यहां आते थे। इसलिए इस स्थान पर हमेशा भक्तों की भारी भीड़ लगी रहती है। भक्त पवित्र रामकुंड में स्नान करते हैं और कपड़े, दीपक, फूल चढ़ाते हुए अन्नदान करके प्रभु रामचंद्र से प्रार्थना करते हैं। इस स्थान पर नियमित रूप से प्रतिदिन शाम सात बजे गोदावरी नदी की आरती भी की जाती है। इस अवसर पर होनेवाले दीपदान के कारण क्षेत्र दीपों की रोशनी से रोशन हो जाता है। इस क्षेत्र में रामकुंड के साथ-साथ लक्ष्मण कुंड, सीता कुंड, हनुमान कुंड, अहिल्या कुंड जैसे १०८ कुंड हैं, जिससे यह क्षेत्र भक्तों के लिए एक पवित्र स्थान है। यहां की फूल-दीपक विक्रेता जयश्री सांगले ने बताया कि कई वर्षों के वनवास को खत्म करके राम के अयोध्या में विराजमान होने से भक्तों में काफी उत्साह है और उनके साथ हम सभी को लग रहा है कि अयोध्या इसी स्थान पर अवतरित हुई है।

शिवसेनापक्षप्रमुख उद्धव ठाकरे शाम छह बजे कालाराम मंदिर में पूजा और उसके बाद आरती करेंगे।
शाम ७ बजे गोदावरी, रामकुंड पंचवटी स्थित उद्धव ठाकरे के हाथों महाआरती होगी।

यही है शिवसेना का हिंदुत्व! आदित्य ठाकरे की हुंकार

अयोध्या में आज बड़ा दिन है। श्रीराम की मूर्ति की प्राण प्रतिष्ठा होने जा रही है। लेकिन हृदय में राम और हाथ में काम, यही शिवसेना का हिंदुत्व है।’ इस तरह का पुनर्रोच्चार शिवसेना नेता, युवासेना प्रमुख व विधायक आदित्य ठाकरे ने किया। उन्होंने कहा कि महा विकास आघाड़ी सरकार ने औरंगाबाद का नाम बदलकर छत्रपति संभाजी नगर और उस्मानाबाद का धाराशिव किया। इस बीच किसी तरह का दंगा नहीं हआ, इसकी भी याद उन्होंने इस दौरान दिलाई। आदित्य ठाकरे की ‘महा निष्ठा, महा न्याय’ सभा कल पिंपरी-चिंचवाड़ में संपन्न हुई। इस सभा में बोलते हुए आदित्य ठाकरे ने भाजपा के साथ ही ‘घाती’ सरकार की जमकर खबर ली।

भक्तों के उत्साह को उड़ान
पंचवटी क्षेत्र में चरणबद्ध तरीके से प्रभु रामचंद्र की प्रसन्न मुद्रा वाले झंडे लगाए जाने से क्षेत्र राममय हो गया है। आज खुद शिवसेनापक्षप्रमुख उद्धव ठाकरे गोदावरी की महाआरती करेंगे। इससे इलाके में उत्साह का माहौल बन गया है। उद्धव ठाकरे के स्वागत वाले बैनर भी ध्यान आकर्षित कर रहे हैं।

 नेत्रदीपक महाआरती समारोह
अयोध्या के सरयू नदी पर नेत्रदीपक समारोह की शिवसेना ने ही शुरुआत की। उसी तरह का समारोह नासिक में होगा। शिवसेनापक्षप्रमुख उद्धव ठाकरे, शिवसेना नेता, युवासेनाप्रमुख आदित्य ठाकरे, सौ. रश्मि ठाकरे और नेता, पदाधिकारियों की उपस्थिति में सोमवार को गंगा गोदावरी की महाआरती की जाएगी। सांसद संजय राऊत ने प्रेस कॉन्प्रâेंस में कहा कि स्वातंत्र्य वीर सावरकर स्मारक पर अभिवादन, श्री कालाराम मंदिर दर्शन, गोदावरी महाआरती, ये तीनों हमारी आस्था के समारोह हैं। भक्तों के उत्साह को उड़ान
पंचवटी क्षेत्र में चरणबद्ध तरीके से प्रभु रामचंद्र की प्रसन्न मुद्रा वाले झंडे लगाए जाने से क्षेत्र राममय हो गया है। आज खुद शिवसेनापक्षप्रमुख उद्धव ठाकरे गोदावरी की महाआरती करेंगे। इससे इलाके में उत्साह का माहौल बन गया है। उद्धव ठाकरे के स्वागत वाले बैनर भी ध्यान आकर्षित कर रहे हैं।

२ हजार क्विंटल फूलों से सजी अयोध्यानगरी
अयोध्यानगरी को २ हजार क्विंटल फूलों से सजाया गया है, वहीं भोपाल से लाए गए विशेष गुलाब के फूलों से रामलला की पूजा की जाएगी। इन फूलों पर राम मंदिर, भगवान श्री राम और श्री राम की तस्वीरें बनी हुई हैं। इन फूलों को बनाने में एक महीने का समय लगा। इसके अलावा मलेशिया, थाईलैंड, इंडोनेशिया और अर्जेंटीना समेत लगभग सभी राज्यों से खूबसूरत फूल मंगाए गए हैं। रामपथ, हवाई अड्डे से राष्ट्रीय राजमार्ग और धर्मपथ से राम मंदिर तक जाने वाली सड़कें आकर्षक फूलों और दीपों से सजाई गई हैं।

अन्य समाचार