मुख्यपृष्ठखबरें‘बच्चू’ लपेटे में! ... सरवणकर के बाद दूसरे शिंदे समर्थक पर गिरी...

‘बच्चू’ लपेटे में! … सरवणकर के बाद दूसरे शिंदे समर्थक पर गिरी गाज

• अदालत ने दिए ‘कडू’ आदेश
• १४ दिन की न्यायिक हिरासत
सामना संवाददाता / मुंबई
मुख्यमंत्री एकनाथ शिंदे के समर्थक विधायक सदा सरवणकर के बाद शिंदे के दूसरे समर्थक विधायक ‘बच्चू’ कडू लपेटे में आ गए हैं। दरअसल पूर्व राज्य मंत्री बच्चू कडू ने एक सरकारी अधिकारी के साथ मारपीट की थी। इस मामले में उनके ऊपर कानूनी गाज गिरी है। बुधवार को गिरगांव मजिस्ट्रेट कोर्ट में हुई सुनवाई के दौरान अदालत ने ‘कडू’ आदेश देते हुए बच्चू को १४ दिन की न्यायिक हिरासत में भेज दिया है। बच्चू कड़ू ने इस मामले में मुंबई सेशन कोर्ट में जमानत के लिए आवेदन दिया है।
गिरगांव मजिस्ट्रेट ने सरकारी अधिकारी की पिटाई मामले में बच्चू कडू के खिलाफ गैर जमानती वारंट जारी किया था। इसलिए वह आज खुद गिरगांव मजिस्ट्रेट कोर्ट में पेश हुए और जमानत देने की मांग की। गिरगांव कोर्ट ने उनकी जमानत का आवेदन खारिज कर दिया और उन्हें १४ दिन की न्यायिक हिरासत में भेज दिया। गौरतलब हो कि ३० मार्च २०१६ को मंत्रालय में सामान्य प्रशासन विभाग के उपसचिव भाऊराव गावित के साथ बच्चू कडू ने गाली-गलौज करते हुए मारपीट की थी। भाऊराव गावित ने उसी दिन मरीन लाइंस पुलिस स्टेशन में बच्चू कडू के खिलाफ शिकायत दर्ज कराई थी। इस घटना को लेकर मंत्रालय के सभी कर्मचारियों-अधिकारियों ने मंत्रालय के मुख्य प्रवेश द्वार पर बच्चू कड़ू के विरुद्ध आंदोलन किया था। सरकारी अधिकारी संगठन ने कडू के खिलाफ कार्रवाई करने की जोरदार मांग की थी।
महाराष्ट्र मिनिस्ट्रियल ऑफिसर्स एसोसिएशन ने आरोप लगाया था कि कडू कर्मचारियों और अधिकारियों पर अवैध काम करने के लिए दबाव बना रहे थे। इस मामले को उस समय कांग्रेस विधायक सतेज पाटील ने विधानसभा में उठाया था और तत्कालीन राजस्व मंत्री एकनाथ खडसे ने मामले की गहन जांच का आदेश दिया था। इसी मामले की सुनवाई कल गिरगांव मजिस्ट्रेट कोर्ट में हुई।

अन्य समाचार