मुख्यपृष्ठनए समाचारकोरोना से भी ज्यादा खतरनाक बैक्टीरियल इंफेक्शन, बांट रही मौतें! ...खा जाते...

कोरोना से भी ज्यादा खतरनाक बैक्टीरियल इंफेक्शन, बांट रही मौतें! …खा जाते हैं इंसान के मांस

मनमोहन सिंह

पिछले माह जुलाई में अमेरिका के दो राज्यों में तीन लोगों की मौत हो गई। तीनों समंदर में तैरने गए थे और उन्होंने कच्ची या अधपकी सीपियां खा ली थीं। २०१६ में अमेरिका के मैरीलैंड में ६७ वर्षीय माइकल फंक की मौत हो गई थी। फंक अपनी पत्नी के साथ ओसीन शहर के पास स्थित असावोमेन खाड़ी में नहाने गए थे।
गौरतलब है कि पिछले साल अक्टूबर में कोलकाता के मृमोय राय नामक व्यक्ति के कूल्हे में रेल एक्सीडेंट के दौरान एक लोहे की रॉड घुस गई। उनके शरीर से रॉड निकालकर घाव की मरहम पट्टी कर दी गई लेकिन दो दिन बाद राय की हालत बिगड़ने लगी। जख्म बढ़ता गया, बुखार तेज होता गया और ५ दिन बाद उनकी मौत हो गई। ऐसे बहुत सारे वाकये हैं, जिनमें लोगों की मौत बिलकुल आकस्मिक तरीके से हुई है। और इन मौतों की वजह है खतरनाक बैक्टीरिया जो इंसान के मांस को खा जाते हैं।
अमूमन ९९ फीसदी बैक्टीरिया इंसान को कोई नुकसान नहीं पहुंचाते हैं। सिर्फ एक फीसदी ही ऐसे हैं, जिनसे बीमारियां होती हैं। अगर शरीर में अच्छे बैक्टीरिया की कमी हो जाए तो इंसान बीमार हो जाता है।
माइक्रोबायोलॉजी सोसाइटी ऑफ इंडिया के प्रेसिडेंट अरविंद देशमुख बताते हैं कि मांस खानेवाले बैक्टीरिया क्या हैं? मांस खानेवाले बैक्टीरिया ‘नेक्रोटाइजिंग फासिसाइटिस’ नाम से जाने जाते हैं। ये शरीर में किसी जख्म या कटी-फटी स्किन से घुसते हैं और इंसान की कोशिकाएं एवं टिश्यू खाने लगते हैं। सबसे पहले `ब्लड सेल’ को अपना शिकार बनाते हैं, जिसके चलते शरीर में ब्लड सर्कुलेशन थम जाता है और शरीर में खून की कमी होने लगती है। इसके फेफड़े में पहुंचने पर सांस लेने में परेशानी होने लगती है। इससे एक हफ्ते के भीतर इंसान की जान जा सकती है। इसी तरह का दूसरा इन्फेक्शन है ‘स्ट्रेप्टोकोकल टॉक्सिक’। ये भी एक बैक्टीरियल इन्फेक्शन है।
इंफेक्शन का इलाज?
फिलहाल कोई वैक्सीन नहीं है। मैडिकल प्रैक्टिश्नर एंटीबॉयोटिक और सर्जरी के जरिए शरीर में फैलने वाले इंफेक्शन को रोकने की कोशिश करते हैं। इंफेक्शन ज्यादा फैल जाता है तो ऑपरेशन के जरिए शरीर के उस अंग काट दिया जाता है। साफ-सफाई एक तरीका है जोखिम कम करने का।
फिलहाल, अमेरिका ने एहतियातन अपने नागरिकों को ऐसे तटीय इलाकों में नहाने पर रोक लगा दी है, जहां पर इस तरह के बैक्टीरिया पाए जा रहे हैं।

सबसे ज्यादा खतरा किसे है?
ऐसे व्यक्ति जिनकी रोग प्रतिरोधक क्षमता कम होती है। तकरीबन ७०-७५ फीसदी ब्लड प्रेशर, एड्स, कैंसर और शुगर के मरीज। इसके अलावा शराब पीने या धूम्रपान करनेवाले और यूरिन इन्फेक्शन व पथरी के मरीज इनकी चपेट में आसानी से आ जाते हैं।

 

अन्य समाचार