मुख्यपृष्ठखबरेंबदहाल-ए-यूपी : फिरोजाबाद में धर्मांतरण

बदहाल-ए-यूपी : फिरोजाबाद में धर्मांतरण

उत्तर प्रदेश की योगी सरकार राज्य में सुव्यवस्था कायम करने की बात करती है। आम नागरिकों की जीवनोपयोगी सभी सरकारी सुविधाएं सस्ती दर पर उपलब्ध कराने का दावा करती है, जो अब फेल होती नजर आ रही है। केंद्र की भाजपा सरकार के एक गलत निर्णय की वजह से राज्य के लोगों को महंगी बिजली मिलने वाली है। सूबे की जनता इन असुविधाओं के साथ कहीं हत्या, कहीं आत्महत्या तो कहीं जबरन वसूली से त्रस्त हो चुकी है। साथ ही धर्मांतरण मामले को लेकर भी मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ कड़ा रुख अपनाने का दावा करते हैं लेकिन इस मामले में भी सरकार पूरी तरह से फेल साबित हो रही है। वर्तमान समय में राज्य की खस्ता हालत यानी बदहाल-ए-यूपी की स्थिति को बयां करती कुछ रिपोर्ट…

फिरोजाबाद में धर्मांतरण का मामला एक बार फिर सामने आया है। दूसरे समुदाय के एक युवक ने बीकॉम की छात्रा को पहले बहला-फुसलाकर अगवा फिर उसका धर्म परिवर्तन कराकर उससे निकाह कर लिया। हालांकि पुलिस ने आरोपी युवक को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया है। मिली जानकारी के अनुसार रसूलपुर थाना क्षेत्र की रहने वाली छात्रा एक कॉलेज से बीकॉम कर रही है। २५ अप्रैल को छात्रा अपने भाई के साथ किसी कार्य से स्कूल आई थी। तभी रामगढ़ थाना क्षेत्र के आकाशवाणी रोड निवासी आरोपी छात्रा को अगवा कर ले गया था। इसकी जानकारी छात्रा के भाई ने परिजनों को दी। परिजन छात्रा की तलाश करते रहे लेकिन उसका कोई पता नहीं लग सका। छात्रा के पिता की तहरीर पर उत्तर थाना पुलिस ने उसके खिलाफ मुकदमा दर्ज कर लिया। गुरुवार रात आरोपी को गिरफ्तार कर लिया गया, साथ ही छात्रा को बरामद कर लिया गया है।
बिना कार के कटा टोल टैक्स
आगरा में मोबाइल पर एक ऐप डाउनलोड करने के बाद व्यक्ति के खाते से रुपए कटने लगे। यह रकम फास्टैग से टोल टैक्स अदा करने में कटी थी। पीड़ित का कहना है कि उसके पास न तो कार है और न ही उसने फास्टैग लिया है। पीड़ित ने थाना सिकंदरा में अज्ञात के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराया। सिकंदरा की कृष्णा कालोनी निवासी ने शिकायत दर्ज कराई है। उन्होंने शिकायत में कहा कि मोबाइल पर धनी ऐप डाउनलोड किया था। इसके बाद उनके खाते से ५००-५०० का ट्रांजेक्शन फास्टैग के नाम पर कट गया जबकि उनके पास कोई कार नहीं है और फास्टैग भी नहीं है। इसके बावजूद रकम काट ली गई। एसएसपी से शिकायत के बाद मुकदमा दर्ज किया गया। थाना सिकंदरा के प्रभारी निरीक्षक बलवान सिंह के मुताबिक, जांच की जा रही है।
बेटी को बेल्ट से पीटता है बाप
आगरा के थाना शाहगंज क्षेत्र के एक गांव में पिता शराब के लिए पैसे नहीं देने पर अपनी बेटी को बेल्ट से पीटता था। इससे परेशान होकर नाबालिग बेटी ने सामाजिक कार्यकर्ता से मदद मांगी तो उनके ट्वीट करने पर पुलिस वहां पहुंची और किशोरी एवं उसकी बहन को रेस्क्यू कर लिया। मिली जानकारी के अनुसार शाहगंज क्षेत्र के एक गांव के रहने वाले व्यक्ति ने बिहार की महिला से शादी की थी। उसके तीन बच्चे हैं। इनमें सबसे बड़ी बेटी १३ साल की है। बेटी ने पुलिस को बताया कि पिता ने चार साल पहले मां को घर से निकाल दिया। मां मायके में रह रही हैं। पिता उसे और भाई और बहन को पीटता है। नाबालिग बेटी घरों में काम करके किसी तरह खर्च चला रही है। पिता उससे शराब के लिए रुपयों की मांग करता है। कुछ दिन पहले बेल्ट से पीटने पर लोग जुट गए, मगर पिता उनसे भी झगड़ा करने लगा। बाद में वह दूसरी जगह रहने लगी तो पिता वहां भी आकर उसकी पिटाई करता था।

अन्य समाचार