मुख्यपृष्ठनए समाचारफेरीवालों की बल्ले-बल्ले! वैध लाइसेंस देने की प्रक्रिया शुरू

फेरीवालों की बल्ले-बल्ले! वैध लाइसेंस देने की प्रक्रिया शुरू

सामना संवाददाता / मुंबई
महानगर में फेरीवालों के लिए खुशखबरी है। फेरीवालों की ओर से लाइसेंस के लिए किए गए आवेदन की स्क्रूटनी का काम मनपा ने पुन: शुरू किया है। मनपा ने ६ साल पहले फेरीवालों से वैध लाइसेंस के लिए फॉर्म जमा कराए थे। अब फेरीवाला पॉलिसी के सक्रिय होने की संभावना को देखते हुए मनपा ने फिर से उनके आवेदन की स्क्रूटिनी प्रक्रिया शुरू कर दी है।
बता दें कि मनपा ने सबसे पहले २०१६ में शहर में फेरीवालों को लाइसेंस जारी करने की प्रक्रिया शुरू की थी। उस समय मनपा अधिकारियों ने १.२८ लाख फेरीवालों को आवेदन फॉर्म वितरित किए थे, जिनमें से ९९,४३५ ने प्रासंगिक दस्तावेजों के साथ आवेदन जमा किए थे। जैसा कि राज्य सरकार ने निवास प्रमाण-पत्र अनिवार्य किया था (मुंबई में १५ साल रहना), २०१९ में पात्रता प्रमाण-पत्र के साथ केवल १५,३६१ फेरीवालों को पात्र पाया गया था। लेकिन करीब दो महीने पहले मनपा ने कहा कि फेरीवालों को लाइसेंस लेने के लिए अब डोमिसाइल सर्टिफिकेट की जरूरत नहीं है। इस आदेश के बाद अब मनपा ने लाइसेंस जारी करने की प्रक्रिया तेज कर दी है। एक अधिकारी ने कहा फेरीवालों को लाइसेंस देने की प्रक्रिया के साथ-साथ फेरीवालों की नीति लागू करने की भी जरूरत है। बता दें कि फेरीवाला पॉलिसी में सदस्यों की नियुक्ति का मामला न्यायालय में प्रलंबित है। संसद में फेरीवाला पॉलिसी पारित करने के बाद मुंबई मनपा ने सबसे पहले फेरीवालों की नीति पर काम शुरू किया था।

अन्य समाचार