मुख्यपृष्ठनए समाचारमनपा का ब्यूटी प्लान! ...३० करोड़ में होगा प्रत्येक वॉड का सौंदर्यीकरण

मनपा का ब्यूटी प्लान! …३० करोड़ में होगा प्रत्येक वॉड का सौंदर्यीकरण

• गार्डन, पुलों व डिवाडर की पेंटिंग, पेड़-पौधे, फुटपाथ की साज-सज्जा आदि कार्यों को मिलेगी गति 
• टैक्टिकल अर्बनिजम पर जोर, सामरिक विकास पर बल
• सौंदर्यीकरण के लिए प्रत्येक वॉर्ड को १० करोड़ अतिरिक्त
• दिसंबर २०२२ से पहले पूरा करना है बचे काम
सामना संवाददाता / मुंबई
महाविकास आघाड़ी सरकार के दौरान तत्कालीन पर्यावरण मंत्री आदित्य ठाकरे ने मुंबई की सुंदरता को बढ़ाने पर जोर दिया था। मुंबई की सुंदरता को नई पद्धति से खूबसूरत बनाने के लिए उन्होंने टैक्टिकल अर्बनिजम का कॉन्सेप्ट लाया था। भारत में इस प्रकार का कॉन्सेप्ट पहली बार लाया गया और उसका असर भी दिखा। मुंबई के दादर, वर्ली, महालक्ष्मी जैसे कई इलाकों में सड़कों के आस-पास के क्षेत्र को सामरिक रूप से विकसित किया गया, जो वाकई में काफी बेहतरीन दिखता है। इस योजना के तहत बचे हुए कार्यों को पूरा करने के लिए मनपा ने ब्यूटी प्लान तैयार किया है। इस प्लान के अंतर्गत पहले ही प्रत्येक वॉर्ड कार्यालय को उनके क्षेत्र में सौंदर्यीकरण कार्य के लिए २०.५ करोड़ आवंटित किया है। अब उन्हें अतिरिक्त १० करोड़ रुपए देने के प्रस्ताव को मंजूरी दी गई है। इस १० करोड़ रुपए की राशि को वॉर्ड अधिकारी बचे हुए सौंदर्यीकरण परियोजना को तेज गति से पूरा करने के लिए खर्च करेंगे। दिसंबर २०२२ तक यह काम पूरा करना है।
प्राप्त जानकारी के अनुसार मनपा वॉर्ड कार्यालय ये १० करोड़ रुपए क्षेत्र में जरूरत के अनुसार खर्च कर सकेंगे। जहां भी सड़क दुरुस्तीकरण, डिवाइडर विकास एवं पेंटिंग, बाग-बगीचे, लाइटिंग, स्ट्रीट फर्नीचर, आधुनिक सिग्नल, पुलों की पेंटिग, उसके नीचे के भाग की स्वच्छता एवं सौंदर्यीकरण के लिए निधि की आवश्यकता होगी, वहां ये १० करोड़ रुपए की निधि खर्च की जा सकेगी। इसका अधिकार वॉर्ड कार्यालय के मुख्य अधिकारी को होगा।

निम्न कार्यों के लिए निर्धारित निधि
मनपा वॉर्ड कार्यालयों को पहले भी सौंदर्यीकरण के लिए २०.५ करोड़ रुपए आवंटित किए गए हैं। अब इस प्रोजेक्ट के लिए कुल ३० करोड रुपए खर्च किए जाएंगे। पहले आवंटित २०.५ करोड़ रुपए को खर्च करने के लिए बंदिशें हैं, उसमें उन्हें ६.५ करोड़ रुपए रोड के डिवाइडर को बनाने, पेंटिंग, गार्डनिंग के लिए खर्च करने होंगे तो ४.५ करोड़ रुपए फुटपाथ के सौंदर्यीकरण, ५ करोड़ रुपए फुटपाथ के चौड़ीकरण के लिए, ३.५० करोड़ रुपए सड़कों के किनारे फर्नीचर, टैक्टिकल अर्बनिजम के तहत विकास, लाइटिंग, फुलवारी, मूर्ति आदि के लिए, वॉर्ड में पुलों की पेंटिंग और दुरुस्तीकरण के लिए तो ७५ लाख रुपए, पुलों के नीचे और आस-पास की सड़कों की पेंटिंग के लिए खर्च करने का प्रावधान है।

आदित्य ठाकरे के कॉन्सेप्ट की हुई थी जमकर सराहना
पूर्व पर्यावरण मंत्री व युवासेनाप्रमुख आदित्य ठाकरे ने टैक्टिकल अर्बनिजम कॉन्सेप्ट को यहां लाया था। कुछ जगहों पर इस पद्धति से हुए सामरिक विकास का परिणाम भी लोगों को दिख रहा था। इससे मुंबई के विकास की सुंदरता और स्वच्छता को रफ्तार मिली थी। लोगों को पिछली सरकार के कार्यकाल में हो रहे सौंदर्यीकरण कार्य भी खूब पसंद आ रहे थे। पूर्व उप मुख्यमंत्री व मौजूदा विधानसभा में विपक्ष के नेता अजीत पवार सहित कई बड़े नेताओं ने पूर्व पर्यावरण मंत्री आदित्य ठाकरे के इस कार्य की जमकर सराहना की थी और अन्य राज्यों के प्रतिनिधि इसे देखने भी आए थे। सरकार बदलने के बाद इस परियोजना के बहुत से काम को रोक दिया गया, इससे जुड़े अधिकारी ट्रांसफर कर दिए गए।

अन्य समाचार