मुख्यपृष्ठनए समाचारठगी का जरिया बन रहा है सेक्सटॉर्शन!... पढ़े-लिखे लोग भी आ जाते...

ठगी का जरिया बन रहा है सेक्सटॉर्शन!… पढ़े-लिखे लोग भी आ जाते हैं झांसे में 

– जागरूक होना ही है बचने का तरीका

सामना संवाददाता / लखनऊ 

तकनीकी के इस युग में ठगी के नए-नए हाईटेक तरीके भी सामने आ रहे हैं। इन्हीं में से एक है अश्लील वीडियो कॉल करना और फिर ब्लैकमेल कर पैसे वसूलना, इसे आपराधिक भाषा में ‘सेक्सटॉर्शन’ भी कहा जाता है। इस ठगी के शिकार कई लोग हो चुके हैं, इनमें पढ़े-लिखे लोगों से लेकर राजनेता तक भी शामिल हैं। चिंता वाली बात यह है कि बदनामी के भय से कई लोग पुलिस के सामने नहीं आते हैं, जिससे घटनाओं का खुलासा भी नहीं हो पाता है। सवाल उठता है कि इतनी घटनाएं होने के बाद भी आखिर लोग क्यों सजग नहीं रहते और ठगी के शिकार हो जाते हैं। जानकारों का कहना है कि लोगों को जागरूक होना चाहिए और यदि वह किसी ऐसी घटना का शिकार हो गए हैं, तो उन्हें बिना देर किए पुलिस के पास जाना चाहिए। ऐसा करके ठगी और ब्लैकमेलिंग से बचा जा सकता है।
अभी कुछ दिन पहले ही हरियाणा के भिवानी-महेंद्रगढ़ लोकसभा क्षेत्र के सांसद चौधरी धर्मबीर सिंह को वीडियो कॉल कर अश्लील क्लिप चलाने के मामले में पुलिस ने एक बड़े रैकेट का खुलासा किया था। पुलिस की जांच में पता चला कि महज २२ से २४ साल के दसवीं पास युवाओं ने वीडियो कॉलिंग कर अश्लील क्लिप तैयार कर ब्लैकमेलिंग का अपना गिरोह बनाकर लोगों को ठगना शुरू कर दिया था। इनके पास से पुलिस ने १३ मोबाइल फोन और १५ सिमकार्ड बरामद किए। पुलिस की टीम ने आरोपियों से बरामद हुए १३ मोबाइलों में छह फोन का डाटा खंगाला तो पता चला कि इन फोनों के जरिए पंजाब में ८८, पश्चिमी बंगाल में १६, हरियाणा में ६५, जम्मू-कश्मीर में ११ और महाराष्ट्र में २९ वीडियो कॉल की गई थी। यह तो एक मामला है, देशभर में ऐसे कई मामले सामने आते हैं।
अनजाने में भी होते हैं शिकार
इस संबंध में मनोरोग विशेषज्ञ डॉ. दीप्ति सिंह का कहना है कि ऐसे मामलों में दो चीजें हो सकती हैं। एक तो जो वीडियो कॉल रिसीव कर रहा है, उसे पता नहीं होता कि किसकी कॉल है, क्योंकि कई बार ऐसे फोन या वीडियो कॉल आ जाती हैं, जिनमें सिर्फ नंबर होते हैं। ऐसे में वह जान ही नहीं पाता है कि किसकी कॉल है? वहीं दूसरी किस्म के लोग यौन कुंठाओं के शिकार होते हैं। इस किस्म के लोग वीडियो में ऐसी चीजें देखते रहते हैं और उन्हें यौन उत्तेजना होती है। ऐसे लोग भी उत्तेजक वीडियो कॉल उठा लेते हैं। हालांकि, उनके दिमाग में भी यह नहीं रहता कि वह इससे फंस सकते हैं। कुछ लोग अनजाने में भी ऐसी चीजों के शिकार हो जाते हैं।
‘अनजान नंबर की वीडियो कॉल न उठाएं’ 
दीप्ति आगे कहती हैं कि मैं कहना चाहती हूं कि लोग जागरूक बनें और ठगी से बचें। अनजान नंबर की वीडियो कॉल को कदापि न उठाएं, जिन्हें आप जानते ही नहीं। व्हाट्सऐप कॉल पर भी उठाने से परहेज करना चाहिए। यदि कभी गलती या अनजाने में कोई कॉल रिसीव भी हो गई है, तो डरना नहीं है। आप साइबर क्राइम में जाकर अपनी शिकायत दर्ज करा सकते हैं। वह आपकी मदद करेंगे।

अन्य समाचार