मुख्यपृष्ठसमाचारबेस्ट है बेस्ट! ...जब सचिन और अनिल को याद आईं पुरानी बेस्ट...

बेस्ट है बेस्ट! …जब सचिन और अनिल को याद आईं पुरानी बेस्ट बसें

• ‘चलो ऐप’ का दोनों ने किया प्रमोशन
• १०.५ लाख लोगों ने ऐप किया डाउनलोड
सामना संवाददाता / मुंबई । महानगर की यातायात सेवा के लिए दूसरी लाइफलाइन के नाम से मशहूर बेस्ट बसों की व्यवस्था को अब डिजिटल प्लेटफॉर्म पर लाया जा रहा है। यात्रियों को अधिक से अधिक सुविधा देने के लिए ‘चलो ऐप’ लॉन्च किया गया है। इस ऐप के जरिए डिजिटल युग को बेस्ट अमल में लाई है। मोबाइल पर ही बेस्ट की तमाम जानकारियां उपलब्ध हो रही हैं, जैसे बस की ट्रैकिंग, यहां तक की बस में सवार यात्रियों, बस में बैठने के बाद टिकट निकालना आदि व्यवस्था है। इस ऐप का प्रमोशन किया जा रहा है। इस अभियान में एक वीडियो जारी किया गया है, जिसमें मास्टर ब्लास्टर सचिन तेंदुलकर और फिल्म अभिनेता अनिल कपूर लोगों से बेस्ट की बसों में सफर के लिए अपील कर रहे हैं। यह वीडियो खूब पसंद किया जा रहा है।
‘काफी बदलाव आया है’
इस वीडियो में अनिल कपूर और सचिन तेंदुलकर दोनों ने अपनी बेस्ट बसों के साथ पुरानी यादों को ताजा किया है, जिसमें दोनों ने पुरानी बेस्ट बसों के सफर और उस समय सफर के आनंद का उल्लेख किया है। अनिल कपूर ने बताया कि पुराने समय में बेस्ट बसों में यात्रा करने का लुत्फ अलग था और आज बस का स्वरूप बदला है। उन्होंने कहा कि आधुनिक युग में काफी बदलाव आया है। हम लोगों की तरह बेस्ट भी आगे बढ़ रही है। ‘चलो ऐप’ के जरिए आगे चल रही है।
‘सफलता में दिया साथ’
सचिन तेंदुलकर ने बताया कि जब वे क्रिकेट की प्रैक्टिस करते थे, तब वे अपने घर से शिवाजी पार्क क्रिकेट मैदान में जाने के लिए वैâसे बस का सफर करते थे? वे किस प्रकार से भाग-भागकर बस पकड़ते थे और उससे वे कितने समय में क्रिकेट मैदान तक पहुंचते थे। दोनों ने स्वीकार किया कि जीवन में उन्हें सफल होने के लिए बेस्ट बस ने किस प्रकार से उनका साथ दिया है और उसकी अहम भूमिका रही है।

अन्य समाचार