मुख्यपृष्ठनए समाचारकोवैक्सीन का होगा उत्तम उत्पादन! महाराष्ट्र मंत्रिमंडल की बैठक में लिया गया...

कोवैक्सीन का होगा उत्तम उत्पादन! महाराष्ट्र मंत्रिमंडल की बैठक में लिया गया निर्णय

-हाफकीन और भारत बायोटेक कंपनी के सहयोग से होगा निर्माण
-१२६.१५ करोड़ रुपए के संशोधित बजट को मिली मंजूरी
सामना संवाददाता / मुंबई। मुंबई मनपा के अधीन हाफकीन में पोलियो सहित कई अन्य टीकों का उत्पादन किया जा रहा है। ऐसे में टीका उत्पादन की फेहरिस्त में कोरोना रोधी टीका भी शामिल होने जा रहा है। हाफकीन जल्द ही भारत बायोटेक कंपनी के सहयोग से कोवैक्सीन टीके का उत्तम उत्पादन करने जा रही है। इसे लेकर गुरुवार को मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे की अध्यक्षता में हुई वैâबिनेट की बैठक में केंद्र और राज्य सरकार के सहयोग से शुरू होनेवाले टीका उत्पादन योजना में वित्तीय सहायता और तकनीक में कुछ आवश्यक बदलावों को मंजूरी दी गई है। ऐसे में आनेवाले दिनों में कोरोना रोधी टीका उत्पादन को रफ्तार मिलेगी।
योजना को चालू करने के लिए इससे संबंधित कुछ शुरुआती कामों को पूरा कर लिया गया है। पहले चरण में सेल पैâक्टरी बेस्ड उत्पादन तकनीकी ज्ञान पर आधारित ११ करोड़ कोवैक्सीन टीका उत्पादन के लिए लगनेवाले आवश्यक सामानों पर १२६.१५ करोड़ का संशोधित बजट को मंजूरी दी गई। इसमें केंद्र सरकार के ७०.०७ करोड़ और राज्य सरकार के ५६.०८ करोड़ रुपए शामिल हैं।
१०० फास्ट ट्रैक कोर्ट की बढ़ी अवधि
फास्ट ट्रैक कोर्ट की आवश्यकता और उपयोगिता को ध्यान में रखते हुए १०० फास्ट ट्रैक कोर्ट की अवाधि को पांच सालों के लिए बढ़ाया गया है। ये कोर्ट अब १ अप्रैल २०२२ से ३१ मार्च २०२७ तक कार्यान्वित रहेंगी।
होगी मेडिकल जांच
मंत्रिमंडल की बैठक में यह भी निर्णय लिया गया है कि प्रदेश में ४० से ५० साल की उम्र तक पहुंचे सभी सरकारी अधिकारियों और कर्मचारियों की दो साल में एक बार मेडिकल जांच होगी। इसके साथ ही ५१ साल से अधिक आयु वाले अधिकारियों और कर्मचारियों को हर साल मेडिकल जांच से गुजरना होगा। बता दें कि राज्य में ४० से ५० साल आयु के १ लाख ५४ हजार २५५ और ५१ साल से अधिक उम्र वाले १ लाख ३३ हजार ७५० सहित कुल दो लाख ८८ हजार अधिकारी और कर्मचारी कार्यरत हैं।
बैलगाड़ी दौड़ प्रतियोगिता के मामले होंगे वापस
राज्य में बैलगाड़ी दौड़ प्रतियोगिता के आयोजन की वजह से दर्ज हुए मामलों को वापस लिए जाने का निर्णय मंत्रिमंडल की बैठक में लिया गया। हालांकि इन मामलों को वापस लेने के लिए कुछ शर्तों को निश्चित किया गया है।

अन्य समाचार