" /> यूपी में उत्तम उपचार!

यूपी में उत्तम उपचार!

 ८ वीं पास डॉक्टर ने किया ऑपरेशन
 गर्भवती महिला और बच्चे की हुई मौत
 डॉक्टर सहित तीन गिरफ्तार

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ राज्य में शिक्षा, सुरक्षा, स्वास्थ्य हर क्षेत्र में विकास की बात करते रहते हैं, लेकिन उनकी नाक के नीचे उनके ही अधिकारी लापरवाहीपूर्वक अपना कार्य करते रहते हैं। अभी हाल ही में एक स्कूल में बच्चों द्वारा झाड़ू लगवाने और बर्तन धुलवाने का मामला सामने आया था। अब सुल्तानपुर जिले से स्वास्थ्य विभाग की लापरवाही की खबर सामने आई है। बता दें कि यहां आठवीं पास डॉक्टर ने एक गर्भवती महिला का ऑपरेशन कर दिया। उसके बाद डिलिवरी के दौरान ही बच्चे की मौत हो गई। उसके बाद जब केस बिगड़ने लगा तो लखनऊ रेफर कर दिया लेकिन लखनऊ जाते वक्त महिला की भी रास्ते में ही मौत हो गई। इस घटना के बाद मृतकों के परिजनों ने पुलिस को तहरीर देकर आरोपी डॉक्टर के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराया।
अत्यधिक रक्त स्त्राव की वजह से हुई मौत
मिली जानकारी के अनुसार बल्दीराय थानाक्षेत्र के अशरफपुर गांव निवासी प्रसव पीड़ा होने पर अपनी पत्नी को डीह गांव स्थित एएनएम सेंटर लेकर गए थे। यहां मौजूद एएनएम के पति ने एंबुलेंस बुलाकर सैनी अरवल स्थित मां शारदा जच्चा-बच्चा केंद्र भेज दिया। अस्पताल कर्मियों के ऑपरेशन के कुछ देर बाद नवजात बच्चे की मौत हो गई। अत्यधिक रक्त स्त्राव से महिला की भी हालत बिगड़ने लगी। इसके बाद उसे इलाज के लिए लखनऊ ट्रांसफर किया लेकिन रास्ते में ही उसकी भी मौत हो गई। इसके बाद मृतक के पति ने बल्दीराय पुलिस को जच्चा-बच्चा केंद्र संचालक समेत चार लोगों के खिलाफ तहरीर दी।
जच्चा-बच्चा केंद्र फर्जी
इस दौरान पुलिस की जांच में चौंकाने वाले तथ्य सामने आए हैं। पुलिस जांच में जच्चा-बच्चा केंद्र बिना पंजीकरण के फर्जी चलता पाया गया है, जिसकी जानकारी स्वास्थ्य विभाग को दे दी गई है। पुलिस ने ऑपरेशन करने वाले आठवीं पास कथित डॉक्टर समेत तीन लोगों को गिरफ्तार कर लिया है।
सभी अनपढ़
एसपी डॉ. अरविंद चतुर्वेदी ने बताया कि पुलिस की जांच में पता चला कि बारहवीं पास लखीमपुर खीरी निवासी ने इसी अस्पताल को सात महीना पहले खोला था। उसने सर्जन के तौर पर आठवीं पास एक व्यक्ति निवासी रानी बाजार थाना को व वाहन चालक के रूप में ओरी सराय अयोध्या निवासी को भी अपने साथ रखा था। घटना वाले दिन महिला का ऑपरेशन सर्जन ने ही किया था, जिसके बाद मां-बेटे की मौत हो गई।