मुख्यपृष्ठसमाचारहाइड्रोजन पर दौड़ेगी ‘बेस्ट'! डीजल पर चलनेवाली २२२ बसों को किया जाएगा...

हाइड्रोजन पर दौड़ेगी ‘बेस्ट’! डीजल पर चलनेवाली २२२ बसों को किया जाएगा परिवर्तित

सामना संवाददाता / मुंबई
प्रदूषण के जोखिम से बचने और ईंधन की लागत बचाने के लिए ‘बेस्ट’ ने अपनी बसों के बेड़े को डीजल से हाइड्रोजन में बदलने का फैसला किया है। बेस्ट ने पहले चरण में डीजल से चलनेवाली २२२ बसों को हाइड्रोजन में बदलने का प्रस्ताव केंद्र सरकार को भेजा है। आनेवाले समय में ईंधन पर चलनेवाली बेस्ट की बसें हाइड्रोजन पर चलती नजर आ सकती हैं।
बसों के डीजल से हाइड्रोजन में परिवर्तित होने से प्रतिवर्ष २० करोड़ ४० लाख रुपए की बचत होगी। वर्तमान में बेस्ट के पास ३,६०० से अधिक बसें हैं। उक्त बसें डीजल, सीएनजी, हाइब्रिड और इलेक्ट्रिक से चलती हैं। इनमें से ८०० से ज्यादा बसें डीजल से चलती हैं। फिलहाल बेस्ट ने ईंधन की बचत और प्रदूषण कम करने के लिए बड़ी संख्या में इलेक्ट्रिक बसों को चलाने का फैसला किया है। अब इसी बीच ईंधन बचाने के लिए बेस्ट ने हाइड्रोजन पर बसें चलाने की योजना बनाई है। डीजल से चलनेवाली बसें कार्बन डाइऑक्साइड छोड़ती हैं। इससे प्रदूषण का खतरा बढ़ जाता है इसलिए केंद्र सरकार ने प्रदूषण कम करने के लिए वाहनों को बिजली और हाइड्रोजन में बदलने का निर्देश दिया है। अगस्त २०२२ में, पहली हाइड्रोजन बस पुणे में चलाई गई थी और अब बेस्ट मुंबई में हाइड्रोजन बसों को लॉन्च करने की कोशिश कर रही है। इस संबंध में केंद्र सरकार को प्रस्ताव भेजा गया है। केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी हाल ही में बेस्ट एंटरप्रेन्योर प्रोग्राम के लिए आए हैं। वे डीजल बसों को हाइड्रोजन में बदलने के प्रस्ताव पर विचार करें, ऐसी मांग महाप्रबंधक लोकेश चंद्र ने गडकरी से की थी। हाइड्रोजन बसों के चलने से हर महीने १,२०० लीटर डीजल की बचत होगी।

अन्य समाचार