मुख्यपृष्ठसमाचार`लोकतंत्र और संविधान पर हमला करनेवाले से रहें सावधान!': नाना पटोले

`लोकतंत्र और संविधान पर हमला करनेवाले से रहें सावधान!’: नाना पटोले

सामना संवाददाता / मुंबई
देश को स्वतंत्रता दिलानेवाले महात्मा गांधी, सरदार पटेल, मौलाना आजाद, पंडित जवाहरलाल नेहरू, नेताजी सुभाषचंद्र बोस ऐसे महान नायकों सहित लाखों स्वतंत्रता सैनिकों के त्याग, संघर्ष व बलिदान से १५ अगस्त, १९४७ को देश स्वतंत्र हुआ और लाल किले पर तिरंगा लहराया गया, परंतु इस तिरंगा को न माननेवाले कुछ लोग हैं, वे लोकतंत्र और संविधान को समाप्त करने का काम कर रहे हैं, ऐसे दोरंगियों से सावधान रहें व तिरंगा के मान-सम्मान को कायम रखें। ऐसा आह्वान महाराष्ट्र प्रदेश कांग्रेस कमिटी के अध्यक्ष नाना पटोले ने किया है। कांग्रेस मुख्यालय के तिलक भवन में स्वतंत्रता दिवस के अमृत महोत्सव के अवसर पर वे बोल रहे थे। इस अवसर पर सेवादल के प्रदेश अध्यक्ष विलास औताडे, प्रदेश कार्याध्यक्ष व पूर्व मंत्री नसीम खान, विधायक राजेश राठौड़ आदि उपस्थित थे।
इस अवसर पर पटोले ने कहा कि हिंदुस्थान के साथ ही कई देश आजाद हुए, लेकिन अधिक समय तक वहां स्वतंत्रता नहीं टिक सकी। हिंदुस्थान को लोकतंत्र डॉ. बाबासाहेब आंबेडकर ने दिया है, जिसमें सभी को लेकर चलने का विचार था, इसलिए आज हम अमृत महोत्सव मना रहे हैं। देश का विभाजन न हो, यह कांग्रेस का विचार था, परंतु विभाजन किसने कराया यह सभी को मालूम है। जो तिरंगा को मान नहीं रहे थे, वे आज ‘हर घर तिरंगा’ अभियान चला रहे हैं। तिरंगा का मान, सम्मान रखना चाहिए। परंतु यह तो कार्यक्रम में रखा नहीं जा रहा है। चीन से तिरंगा झंडा आयात किया गया है। इस तिरंगे का रंग, आकार, अशोक चक्र इसका तालमेल नहीं बैठ रहा है, ऐसा पटोले ने कहा। स्वतंत्रता के अमृत महोत्सव वर्ष में सभी को घर देने का आश्वासन प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने दिया था। आज अमृत महोत्सव मनाया गया। इसमें कितने लोगों को घर दिया गया है, यह साफ दिखाई दे रहा है। झूठे आश्वासन देकर लोगों को फंसाने का काम भाजपा कर रही है। आंदोलन करनेवाले किसानों को आतंकवादी का रूप देकर अपमानित किया जा रहा है। यह दुर्भाग्य है, ऐसा भी पटोले ने इस मौके पर कहा।

अन्य समाचार